0

Indira Ekadashi 2021: आश्विन मास की इंदिरा एकादशी कब है, जानिए शुभ मुहूर्त और पूजा विधि

रविवार,सितम्बर 26, 2021
0
1
वर्ष 2021 में 2 अक्टूबर, शनिवार को इंदिरा एकादशी को मनाई जा रही है। आश्विन मास के श्राद्ध पक्ष में आने वाली इस एकादशी का व्रत करने से पितृ दोष दूर होता है तथा यह एकादशी पितरों को अधोगति से मुक्ति और मोक्ष दिलाने वाली मानी गई है।
1
2
डोल ग्यारस को परिवर्तिनी एकादशी, जलझूलनी एकादशी, वामन एकादशी आदि के नाम से भी जाना जाता है।
2
3
भाद्रपद शुक्ल एकादशी के दिन का पूजा की दृष्टि से विशेष महत्व है। इस दिन को परिवर्तिनी एकादशी, डोल ग्यारस के नाम से जनमानस में प्रचलित है। परिवर्तिनी एकादशी व्रत में भगवान विष्णु के वामन अवतार की पूजा की जाती है।
3
4
भाद्रपद शुक्ल पक्ष की एकादशी को परिवर्तनी, पद्मा एकादशी कहते हैं, इसके अलावा जलझूलनी यानी डोल ग्यारस भी कहते हैं। परिवर्तिनी एकादशी व्रत इस वर्ष 17 सितंबर 2021 को मनाया जा रहा है।
4
4
5
भाद्रपद में शुक्ल पक्ष की एकादशी को परिवर्तनी एकादशी कहते हैं। इसके अलावा इसे जलझूलनी यानी डोल ग्यारस भी कहते हैं। इसके अलावा इसे वामन और पद्मा एकादशी भी कहते हैं। इस बार यह एकादशी 17 सितंबर 2021 शुक्रवार को रहेगी। आओ जानते हैं इसका व्रत रखने के ...
5
6
भाद्रपद में शुक्ल पक्ष की एकादशी को परिवर्तनी एकादशी कहते हैं। इसके अलावा इसे जलझूलनी यानी डोल ग्यारस भी कहते हैं। इस बार यह एकादशी 17 सितंबर शुक्रवार को रहेगी।
6
7
आज अजा एकादशी है। इस दिन भगवान विष्णु का पूजन किया जाता है। यहां पढ़ें शुभ मुहूर्त, पूजा विधि और व्रत नियम...
7
8
वर्ष 2021 में भाद्रपद कृष्ण पक्ष में आने वाली जया / अजा एकादशी शुक्रवार, 3 सितंबर को मनाई जाएगी। यह एकादशी भगवान श्री हरि विष्णु के पूजन के लिए जानी जाती है।
8
8
9
भाद्रपद कृष्ण पक्ष में आने वाली यह एकादशी समस्त पापों का नाश करने वाली तथा अश्वमेध यज्ञ का फल देने वाली है। एकादशी के दिन व्रत-उपवास रखकर और रात्रि जागरण करके श्रीहरि विष्णुजी का पूजन-अर्चन तथा ध्यान करना चाहिए।
9
10
इस वर्ष 3 सितंबर 2021, शुक्रवार को भाद्रपद मास की कृष्ण पक्ष की अजा एकादशी मनाई जा रही है। इस दिन भगवान विष्णु का पूजन किया जाता है।
10
11
शास्त्रानुसार एकादशी का व्रत करना सभी हिन्दू धर्मावलंबियों के लिए श्रेयस्कर बताया गया है। वैष्णवों के लिए तो एकादशी का व्रत करना अनिवार्य है।
11
12
एकादशी के दिन चावल खाने से अखाद्य पदार्थ अर्थात नहीं खाने योग्य पदार्थ खाने का फल मिलता है। पौराणिक कथा के अनुसार...
12
13
हिंदू धर्म में एकादशी व्रत का बड़ा महत्व है। शास्त्रों के अनुसार हर माह दो एकादशी आती हैं, एक कृष्ण पक्ष में और दूसरी शुक्ल कृष्ण पक्ष में। सभी धर्मों के नियम भी अलग-अलग होते हैं।
13
14
सितंबर माह में 2 बड़ी एकादशियां आएगी। पहली अजा एकादशी और दूसरी परिवर्तनी एकादशी। एकादशी का व्रत रखने का खास महत्व है। आओ जानते हैं कि यह दोनों एकाशशियां कब आ रही और क्या है इनका महत्व।
14
15
आज श्रावण मास की पुत्रदा, पवित्रा एकादशी है। भारतीय हिन्दू संस्कृति में हर महीने की 11वीं तिथि यानी एकादशी (ग्यारस) को व्रत-उपवास किया जाता है। यह तिथि अत्यंत पवित्र तिथि मानी गई है। यहां पढ़ें व्रत पूजन विधि, कथा, शुभ मुहूर्त, मंत्र, पारण का समय और ...
15
16
एकादशी का दिन पारिवारिक उन्नति वाला रहेगा। शुभ समाचार मिलेंगे। व्यापार में सफलता हासिल होगी। नौकरी में साथियों से परेशानी आएगी। कृषि क्षेत्र में मध्यम लाभ मिलेगा। स्वयं के स्वास्थ्य में उतार-चढ़ाव रहेगा। माता की तीर्थयात्रा होने के योग हैं। भाई के ...
16
17
यह आरती करने से श्री हरि विष्णु प्रसन्न होकर खुशहाल जीवन का आशीर्वाद देते हैं। यहां पढ़ें ॐ जय जगदीश हरे, स्वामी! जय जगदीश हरे...
17
18
श्रावण मास के शुक्ल पक्ष की पुत्रदा एकादशी इस बार, बुधवार, 18 अगस्त 2021 मनाई जाएगी। यह व्रत संतान की समस्याओं के निवारण हेतु किया जाता है। यदि आप स्वस्थ हैं और उपवास करने में सक्षम हैं तो निर्जला व्रत रखें अन्यथा फलाहारी व्रत
18
19
श्रावण महीने की इस शुक्ल पक्ष की एकादशी को पवित्रा एकादशी भी कहते हैं। धर्मशास्त्रों में इसका नाम पुत्रदा एकादशी भी बताया गया है। इस व्रत कथा को पढ़ने तथा इसके माहात्म्य को सुनने से मनुष्य सब पापों से मुक्त हो जाता है और इस लोक में संतान सुख भोगकर ...
19