Doctors Day पर एक सलाम, कोरोना काल की सच्ची सेवा और साहस के नाम

डॉक्टर्स डे, को जब हम यह दिन मना रहे हैं तो हमें याद आता है महामारी की शुरुआत का वह मंज़र जब कोरोना शब्द भय, असुरक्षा और डरावनी चिंता का विषय बन रहा था और अपने ही अपनों से दूर हो रहे थे....एक तरफ मौत का आंकड़ा लगातार बढ़ रहा था, विश्व भर से चिंताजनक खबरें आ रही थीं, दूसरी तरफ थे हमारे चिकित्सक, हमारे डॉक्टर....

एक छोर पर मौत अपना विकराल रूप दिखा रही थी, दूसरे छोर पर खड़े थे हमारे सेवाभावी डॉक्टर... सच में इस विषम दौर में अगर सबसे ज्यादा किसी ने इंसानियत की इबारत रची है, सेवा के उच्च प्रतिमान गढ़े हैं तो वह हैं हमारे चिकित्सक...जिस सेवा, हिम्मत, हौसले और समर्पण भाव से हमारे चिकित्सा सेवियों ने महामारी की चुनौतियों और संकट का सामना किया है वह अतुलनीय है...अविस्मरणीय है... सम्माननीय है...

वर्ष 2021 के डॉक्टर्स डे पर हम समर्पित कर रहे हैं उनके प्रति अपना सम्मान और आदर....इस पूरे कोरोना काल में उन्होंने रात दिन सेवा का संकल्प धारण कर दांव पर लगा दी अपनी जिंदगी, अपने सुख, अपने दुख, अपनी सेहत, अपना परिवार, अपना समय, अपना मानस... अपना सब कुछ.... बिना यह सोचे कि वे भी एक इंसान हैं...
हम भी कहां सोच पाए उस स्तर तक कि ये जो कर्मनिष्ठ बाशिंदे हैं दर्द उन्हें भी होता है...वे भी थकते हैं...उनमें भी भावनाएं होती हैं... मौत उन्हें भी विचलित करती है.... दम उनका भी घुटता है और मन उनका भी दुखता है....

उन दिनों जब कोई कोरोना पीड़ितों को स्पर्श करने को और देखने को भी तैयार नहीं था, उन्होंने न सिर्फ हाथ उनका थामा बल्कि सांसों को भी भरपूर साधने का सुप्रयास किया....

कोरोना काल की आहट के साथ ही उन्होंने अपना मोर्चा संभाला और अत्यधिक व्यस्त और कष्टप्रद समय के बीच भी मरीजों से पूरे धैर्य से बात की, हमें अपनी विशेषज्ञता का लाभ दिया और जनमानस में फैले भय को कम करने में सहयोग दिया...

ये वे चिकित्सासेवी हैं जो देर रात गए भी आवश्यक सवालों का सही जवाब देने के लिए तत्पर रहे....आज जब परिस्थितियां नियंत्रित होने जा रही हैं तब हम नतमस्तक हैं इनके अथक प्रयासों के प्रति, इनकी विशेषज्ञता के प्रति..... उनके उदार मन के प्रति, उनके विशेष प्रोफेशन के प्रति....

उनके उपकारों का प्रतिफल हम दे सकें उतनी तो सामर्थ्य नहीं है, लेकिन हम डॉक्टर्स डे पर अपना स्नेह और सम्मान समर्पित करना चाहते हैं... हम नमन करना चाहते हैं कोरोना काल में निस्वार्थ और निरंतर सहयोग करने वाले चिकित्सकों को....
हम कहना चाहते हैं उनसे कि कोरोना महामारी के बीच आपने जिस हिम्मत और हौसले से निस्वार्थ सेवा की है.....वह प्रशंसनीय है... विकट दौर में आपने मानवता की जो श्रेष्ठतम परिभाषा रची है.....उसे हम विनम्रता से महसूस कर रहे हैं... आपकी सेवा भावना को हम नमन करते हैं...

डॉक्टर्स डे पर वेबदुनिया टीम सच्चे दिल से सलाम करती है देवदूत बनकर निरंतर कार्यरत चिकित्सा सेवियों के समर्पण भाव को....
Special




और भी पढ़ें :