0

तालिबान शासन में स्त्रियों की चुनौतियों का क्या हल?

मंगलवार,सितम्बर 7, 2021
0
1
प्रति वर्ष 31 अगस्त को भारत में विमुक्ति दिवस मनाया जाता है। यह दिवस घुमंतू जातियों या घुमक्कड़ जातियों के बराबरी का दर्जा दिलाने और सामाजिक न्याय के लिए मनाया जाता है। आओ जानते हैं कि क्यों मनाया जाता है यह दिवस और कौन है घुमंतू।
1
2
राज्यपालों की मनमानी या केंद्र सरकार के इशारों पर उनके काम करने की कहानी वैसे तो बहुत पुरानी है, मगर केंद्र में भारतीय जनता पार्टी की सरकार बनने के बाद यह सिलसिला तेज हो गया है। गैर भाजपा शासित राज्यों के राज्यपालों में तो मानों होड़ लगी हुई है कि ...
2
3
दिग्गज भाजपा नेता, राजस्थान के पूर्व राज्यपाल और उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह से मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जो रिश्ता निभाया है, वह खुद में अकल्पनीय और अनुकरणीय है। पूर्व मुख्यमंत्री के गंभीर रूप से बीमार पड़ने से लेकर उनके अंतिम ...
3
4
अटल बिहारी वाजपेयी का जन्‍म 25 दिसंबर 1924 को हुआ था। पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी लंबे समय से बीमार रहने के कारण अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान यानी एम्स में भर्ती रहे, जहां उनका लंबा इलाज चला और 16 अगस्त 2018 को 93 वर्ष की उम्र में उनका ...
4
4
5
क्या अब यह मान लिया जाए कि कांग्रेस पार्टी विभाजन के कगार पर पहुंच गई है? राहुल गांधी के ख़िलाफ़ पार्टी के बाहर और भीतर नियोजित तरीक़े से प्रारंभ हुए हमले अगर कोई संकेत हैं तो आशंका सही भी साबित हो सकती है। इस आशंका के सिलसिले में दो खबरें हैं। ...
5
6
कारगिल युद्ध के महानायक परमवीर चक्र विजेता बलिदानी कै. विक्रम बतरा की बहादुरी पर बनाई गई फिल्म शेरशाह आज गुरुवार को बड़े पर्दे पर रिलीज होने जा रही है। वैसे 26 जुलाई को 'कारगिल विजय दिवस' मनाया जाता है। हालांकि 12 अगस्त को रिलीज होने जा रही फिल्म ...
6
7
.. मोदी जी ने कहा कि रोना बंद कीजिए, देश आप पर गर्व कर रहा है.... यह शब्द अपने देश के प्रमुख के मुख से सुनना और पूरे देश में हार के बाद भी प्रशंसा का माहौल बनना किसी भी मैडल से कम नहीं है....
7
8
वह मैदान जब उन्हें अपना 100 प्रतिशत देकर करिश्मा रचना है... क्या कुछ होता होगा दिमाग में.... अपना देश, अपनी धरती, अपना राष्ट्रगान, अपना तिरंगा, मां की मन्नत, पिता का प्यार, बहन की बातें, भाई का भरोसा... कोच की ट्रेंनिंग, आपसी राजनीति और भी जाने क्या ...
8
8
9
मोहनदास करमचंद महात्मा गांधी के आश्रम का नाम है साबरबती आश्रम। अहमदाबाद की साबरमती नदी के किनारे लगभ 36 एकड़ में फैले इस आश्रम को देखने दुनियाभर के लोग आते हैं। इस आश्रम के आसपास तीन महत्वपूर्ण स्थल है। एक ओर विशाल पवित्र साबरमती नदी, दूसरी ओर श्मशान ...
9
10
लद्दाख में पैंगोंग झील के तट पर अक्सर भारत और चीन के सैनिक आमने सामने आ जाते हैं। वास्तविक नियंत्रण रेखा के पास हॉट स्प्रिंग्स, गोग्रा और डेपसांग क्षेत्रों पर अक्सर तनातनी होती है। दोनों देशों की सेनाओं के बीच पैंगोंग झील क्षेत्र में पिछले साल 5 मई ...
10
11
1971 में भारतीय सेना के हाथों हुई पाकिस्तान की करारी हार के उपरांत पाकिस्तान के तत्कालीन पाक प्रधानमंत्री जुल्फीकार अली भुट्टो ने कहा था कि पाकिस्तान कश्मीर को पाने के लिए भारत से 1,000 साल तक लड़ सकता है। लेकिन पाकिस्तानी सेना भड़की हुई थी। उसने ...
11
12
उत्तर प्रदेश में पिछले साढे चार साल से शासन कर रही भारतीय जनता पार्टी की सरकार और उसके मुखिया अजय सिंह बिष्ट उर्फ योगी आदित्यनाथ को अचानक इलहाम हुआ है कि प्रदेश की आबादी बेतहाशा बढ़ रही है जिसकी वजह से न तो सूबे का विकास हो पा रहा है और न ही ...
12
13
अफगानिस्तान में हिन्दूकुश नाम का एक पहाड़ी क्षेत्र है जिसके उस पार कजाकिस्तान, रूस और चीन जाया जा सकता है। अफगानिस्तान की सीमा भारत, पाकिस्तान और ईरान से भी लगी हुई है। इसीलिए यह स्थान जहां रशिया और अमेरिका के लिए महत्वपूर्ण है वहीं चाइना की भी इस ...
13
14
सीधी भाषा में कहें तो बलूचिस्तान के दक्षिण-पूर्वी हिस्से पर ईरान, दक्षिण-पश्चिमी हिस्से पर अफगानिस्तान और पश्चिमी भाग पर पाकिस्तान ने कब्जा कर रखा है। सबसे बड़ा हिस्सा तकरीबन पाकिस्तान के कब्जे में है। प्राकृतिक संसाधनों से भरपूर इस संपूर्ण क्षेत्र ...
14
15
भारत में मानसून को लेकर मौसम विभाग का अनुमान या भविष्यवाणी आमतौर पर गलत ही साबित होती है। इसलिए इस बार भी ऐसा हो रहा है तो कोई आश्चर्य नहीं। इस बार भी मौसम विभाग ने मानसून समय पर आने की भविष्यवाणी करते हुए 104 से 110 फीसदी वर्षा की संभावना जताई है। ...
15
16
सुप्रीम कोर्ट और देश के कुछ उच्च न्यायालयों ने नागरिक अधिकारों और उनके संरक्षण की लड़ाई में जुटे कार्यकर्ताओं, सरकारों के द्वारा क़ानून की विभिन्न धाराओं के तहत उनकी गिरफ्तारियों आदि को लेकर पिछले कुछ महीनों के दौरान महत्वपूर्ण फैसले सुनाए हैं। इन ...
16
17
भारतीय राजनीति इस समय अपने इतने निकृष्टतम दौर से गुजर रही है कि वह देश की समस्याओं का समाधान करने के बजाय खुद अपने आप में एक गंभीर समस्या बन चुकी है। किसी भी लोकतंत्र के लिए इससे ज्यादा बुरा दौर और क्या हो सकता है कि जब महंगाई पूरी तरह लूट में ...
17
18
ग़ैर-भाजपाई विचारधारा वाले दलों से चुनिंदा नेताओं को भाजपा में शामिल कर विपक्षी सरकारों को गिराने या चुनाव जीतने की कोशिशों पर जताई जाने वाली नाराज़गी और नज़रिए में थोड़ा-सा बदलाव कर लिया जाए तो जो चल रहा है, उसे बेहतर तरीक़े से समझा जा सकता है। ...
18
19
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी अपने दूसरे कार्यकाल के 2 वर्ष पूरे कर चुके हैं लेकिन इन 2 सालों में वे अपने मंत्रिपरिषद को भी पूरी तरह आकार नहीं दे पाए हैं। उनकी सरकार का तीसरा साल शुरू हो चुका है लेकिन अभी भी आधी-अधूरी मंत्रिपरिषद से ही काम चल रहा है। ...
19