covaxin के आपात इस्तेमाल को नहीं मिली मंजूरी, करना होगा अभी और इंतजार

Covaxin
Last Updated: बुधवार, 27 अक्टूबर 2021 (11:33 IST)
संयुक्त राष्ट्र/ जिनेवा। विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के एक शीर्ष अधिकारी ने कहा कि किसी टीके के इस्तेमाल की अनुमति देने के फैसला के लिए टीके का पूरी तरह से मूल्यांकन करने और इसकी सिफारिश करने की प्रक्रिया में कभी-कभी अधिक समय लगता है और सबसे अधिक महत्वपूर्ण यह है कि विश्व को सही सलाह ही दी जाए कि भले ही इसमें एक या दो सप्ताह अधिक लग जाएं।
ALSO READ:

CoronaVirus India Update : भारत में कोरोना के 13451 नए मामले, 585 की मौत

भारत में निर्मित कोविड-19 रोधी 'कोवैक्सिन' टीके को आपात स्थिति में इस्तेमाल करने वाले टीकों की सूची में शामिल करने के निर्णय के लंबित होने के बीच डब्ल्यूएचओ के स्वास्थ्य आपात स्थिति कार्यक्रम के कार्यकारी निदेशक डॉ. माइक रेयान ने यह बयान दिया। रेयान ने ऑनलाइन सवाल-जवाब के दौरान किए एक सवाल के जवाब में यह बात कही। उनसे पूछा गया था कि क्या 26 अक्टूबर तक 'कोवैक्सिन' को टीकों की की सूची (ईयूएल) में डालने पर कोई निश्चित उत्तर मिल पाएगा।


इससे पहले डब्ल्यूएचओ की प्रमुख वैज्ञानिक सौम्या स्वामीनाथन ने एक ट्वीट में कहा था कि भारत के 'भारत बायोटेक' द्वारा निर्मित कोविड-19 रोधी टीके 'कोवैक्सिन' को आपात स्थिति में इस्तेमाल करने वाले टीकों की सूची में डालने पर विचार करने के लिए डब्ल्यूएचओ में तकनीकी सलाहकार समूह 26 अक्टूबर को एक बैठक करेगा। इस सप्ताह, वैश्विक स्वास्थ्य संगठन ने ट्वीट में कहा था कि वह 'भारत बायोटेक' के टीके 'कोवैक्सीन' के संबंध में अतिरिक्त जानकारी हासिल करने की उम्मीद कर रहा है।



और भी पढ़ें :