ओलंपिक में भाग लेने वालों के लिए कोविशील्ड की दूसरी खुराक के समय अंतराल में दी ढील

Last Updated: बुधवार, 14 जुलाई 2021 (17:20 IST)
हमें फॉलो करें
नई दिल्ली। केंद्र ने को बताया है कि टोक्यो ओलंपिक में भाग लेने जा रहे भारतीय दल के खिलाड़ियों और उनके साथ जा रहे कर्मियों तथा पढ़ाई के लिए विदेश जाने वाले छात्रों को की दूसरी खुराक निर्धारित समय अंतराल से पहले (28 दिन के बाद तथा 84 दिन से पूर्व) दी जाएगी। वर्तमान में, टीका कार्यक्रम से संबंधित राष्ट्रीय विशेषज्ञ समूहों की सिफारिशों के आधार पर कोविशील्ड की दूसरी खुराक, पहली खुराक की तारीख से 12-16 सप्ताह के अंतराल (यानी 84 दिन के बाद) पर दी जाती है।
कोविड प्रबंधन पर स्वत: संज्ञान संबंधी मामले में केंद्र ने शीर्ष अदालत में शनिवार को दायर 380 पन्नों के अपने शपथ पत्र में कहा है कि केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय को छात्रों और केरल जैसे विभिन्न राज्यों से कई अभिवेदन मिले हैं जिनमें कहा गया है कि उच्च शिक्षा के लिए विदेश जाने वाले छात्रों के लिए कोविशील्ड की दूसरी खुराक के लिए 84 दिन के समय अंतराल में ढील दी जानी चाहिए।

शीर्ष अदालत ने गत 31 मई को केंद्र की टीकाकरण नीति की आलोचना की थी और कहा था कि 18-44 आयु समूह के लोगों के टीकाकरण के लिए राज्यों और निजी अस्पतालों को शुल्क वसूली की अनुमति देना प्रथम दृष्टया मनमाना और अतार्किक है, जबकि राष्ट्रीय टीकारण अभियान के पहले दो चरणों में टीके नि:शुल्क लगाने की व्यवस्था की गई।
ALSO READ:

खुशखबर, के हर वैरिएंट का खात्मा करेगी यह वैक्सीन!
केंद्र ने अपने शपथ पत्र में कहा है कि ऐसे कई अभिवेदन मिले हैं जिनमें कहा गया है कि ऐसे लोगों के लिए कोविशील्ड की दूसरी खुराक के वास्ते निर्धारित समय अंतराल में ढील दी जानी चाहिए, जो टीके की पहली खुराक ले चुके हैं और जिन्हें शैक्षणिक उद्देश्यों, रोजगार के अवसरों या टोक्यो ओलंपिक खेलों में भारतीय दल के रूप में अंतरराष्ट्रीय यात्रा पर जाना है और उनकी यात्रा की तारीख दूसरी खुराक के लिए निर्धारित न्यूनतम 84 दिन के समय अंतराल से पहले पड़ रही है।
इसने कहा कि मुद्दे पर कोविड टीकाकरण संबंधी अधिकार प्राप्त समूह-5 की बैठक में चर्चा हुई, जिसने पूर्ण टीकाकरण कवरेज उपलब्ध कराने और अंतरराष्ट्रीय यात्रा को सुगम बनाने के लिए दूसरी खुराक निर्धारित समय अंतराल से पहले (28 दिन के बाद तथा 84 दिन से पूर्व) लगाने की सिफारिश की है।
केंद्र ने कहा कि शिक्षा के उद्देश्य से विदेश जाने वाले छात्रों, रोजगार के अवसरों के लिए विदेश जाने वालों तथा टोक्यो ओलंपिक खेलों में भाग लेने जा रहे खिलाड़ियों और उनके साथ जा रहे भारतीय दल के कर्मियों को विशेष छूट दी जाएगी। इसने कहा कि कोविशील्ड की दोनों खुराकों के बीच समय अंतराल में उभरते वैज्ञानिक साक्ष्यों के आधार पर संशोधन होते रहे हैं।(भाषा)



और भी पढ़ें :