वैज्ञानिकों ने की वायरस जनित प्रोटीन में 'पॉकेट' की खोज, इस तरह होगा संक्रमण पर नियंत्रण...

पुनः संशोधित सोमवार, 26 जुलाई 2021 (19:02 IST)
टोरंटो। वैज्ञानिकों ने विभिन्न प्रकार के कोरोनावायरस कोरोनावायरस (Coronavirus) और के मरीजों से प्राप्त नमूनों के वायरस जनित में ऐसे 'पॉकेट' का पता लगाया है जिनमें कोरोनावायरस के हर प्रकार पर प्रभावी औषधि 'बंध' सकती है। कनाडा में टोरंटो विश्वविद्यालय के अनुसंधानकर्ताओं ने कहा कि इस सुरक्षित और प्रभावी टीके से कोविड-19 महामारी समाप्त हो सकती है।
लेकिन उन्होंने कहा कि ‘टीका-रोधी’ सार्स सीओवी-2 के प्रकार और नए कोरोनावायरस के संभावित उभार से ऐसे उपचार खोजे जा रहे हैं, जिनसे सभी प्रकार के कोरोनावायरस से मुकाबला किया जा सकता है। शोध पत्रिका ‘जर्नल ऑफ प्रोटिओम रिसर्च’ में प्रकाशित अध्ययन में कोरोनावायरस के 27 प्रकारों और कोविड-19 मरीजों के हजारों नमूनों से प्राप्त वायरस जनित प्रोटीन का विश्लेषण किया गया है।

अध्ययन में ऐसे ‘सीक्वेंस’ का पता लगाया गया है जिनसे अत्यधिक प्रभावशाली दवा बनाई जा सकती है। दवाएं अकसर प्रोटीन पर बने ‘पॉकेट’ में ‘बंधती’ हैं जो उन्हें कसकर जकड़े रहते हैं जिससे वे प्रोटीन के संपर्क में रहती हैं। वैज्ञानिक, वायरस जनित प्रोटीन के त्रिआयामी ढांचे से ऐसे ‘पॉकेट’ का पता लगा सकते हैं जिनमें दवाएं बंध सकती हैं।

हालांकि समय के साथ वायरस अपने प्रोटीन में उत्परिवर्तन कर सकते हैं जिससे दवाएं उसमें फिट न हो सकें। अनुसंधानकर्ताओं ने कहा कि दवाओं को बांधने वाले कुछ पॉकेट प्रोटीन के काम करने के लिए इतने महत्वपूर्ण हैं कि उन्हें उत्परिवर्तित नहीं किया जा सकता और संबंधित वायरसों में ऐसे पॉकेट समय के साथ संरक्षित होते हैं।(भाषा)



और भी पढ़ें :