कोरोनावायरस के खात्मे के लिए मेड इन इंडिया कैप्सूल, 2000 से 4000 के बीच हो सकती है कीमत

Last Updated: गुरुवार, 11 नवंबर 2021 (14:16 IST)
हमें फॉलो करें
भारत में कोरोना से बचाव का अब तक टीका ही एकमात्र विकल्प है, लेकिन कोरोना से इलाज के लिए खुशखबर सामने आई है। मध्यम से हल्के COVID-19 मामलों के इलाज के लिए एक ओरल एंटीवायरल दवा को जल्द ही आपातकालीन उपयोग की अनुमति मिल जाएगी। कोविड स्ट्रैटजी ग्रुप, सीएसआईआर के मुताबिक मर्क की एंटीवायरल दवा (Molnupiravir) को आने वाले दिनों में आपातकालीन उपयोग के लिए अनुमति मिल सकती है।

की एक और गोली पैक्सलोविड (Paxlovid) में कुछ और समय लग सकता है। फिलहाल यह दवा कैप्सूल के रूप में है, जिसे वयस्क आबादी के लिए उपयुक्त करार दिया गया है। यह दवा कोरोना के लक्षण को कम करने में कारगर साबित हुई है और इसके कोई नकारात्मक परिणाम भी नहीं देखने को मिले हैं।
कोरोना संक्रमण के शुरुआती दिनों में यह दवा काफी असरदार पाई गई है। दवा की कीमत के बारे में कहा जा रहा है कि शुरुआत में इसकी कीमत 2000 रुपए से 4000 रुपए के बीच हो सकती है और बाद में कीमत 500 रुपए से 1000 रुपए तक कम हो सकती है। गुरुवार को ब्रिटेन इसे मंजूरी देने वाला पहला देश बन गया। यूके में 18 साल और उससे अधिक उम्र के वयस्कों के लिए गोली को मंजूरी दी गई थी।



और भी पढ़ें :