Omicron: कोरोना के बढ़ते संक्रमण के चलते लखनऊ में धारा 144 लागू

Last Updated: बुधवार, 8 दिसंबर 2021 (00:50 IST)
लखनऊ। प्रांतीय राजधानी में क्रिसमस, 31 दिसंबर और नए साल की पार्टियों के दौरान कोविड प्रोटाकल का सख्ती से करना, मास्क लगाना और दो गज की दूरी का पालन करना अनिवार्य होगा। लखनऊ पुलिस ने मंगलवार को इस आशय का आदेश जारी किया। इस संबंध में सीआरपीसी की धारा 144 के तहत लखनऊ आयुक्तालय में निषेधाज्ञा पांच जनवरी, 2022 तक लागू रहेगी। पुलिस आयुक्त डीके ठाकुर ने बताया कि शासन द्वारा लागू किए गए का कड़ाई से अनुपालन करना होगा।
ALSO READ:

24 घंटे में कोविड-19 के 8,603 नए मामले, 3.40 करोड़ लोगों ने दी महामारी को मात

इस दौरान विधानभवन और उसके आस-पास एक किलोमीटर के दायरे में विशेष सतर्कता रहेगी। इस परिधि में इक्का, तांगा, अग्नेयाश्त्र, ज्वलनशील पदार्थ लेकर चलना प्रतिबंधित रहेगा। वहीं, ऑनलाइन गतिविधियों पर साइबर क्राइम सेल की कड़ी नजर रहेगी। ऑनलाइन अफवाहें फैलाने वालों और आपत्तिजनक पोस्ट डालने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।
पुलिस द्वारा जारी बयान के मुताबिक, शादी समारोह व अन्य आयोजनों में व्यक्तियों की उपस्थिति बंद स्थानों पर एक समय में अधिकतम 100 की कोविड प्रोटोकॉल के तहत होगी। कोविड हेल्प डेस्क की बनाना आवश्यक होगी।

विदेश से लौटा व्यक्ति संक्रमित : ब्रिटेन से दुबई होते हुए लखनऊ आया एक यात्री मंगलवार को कोरोना संक्रमित पाया गया है। स्वास्थ्य विभाग ने तत्परता दिखाते हुए मरीज में ओमिक्रोन वेरिएंट की पुष्टि के लिए जीनोम सिक्वेंसिंग हेतु नमूना जांच के लिए यहां स्थित केजीएमयू भेज कर मरीज को स्थानीय लोकबंधु अस्पताल में भर्ती करा दिया है।


स्वास्थ्य विभाग से मिली जानकारी के अनुसार 24 वर्षीय संक्रमित मरीज गोमतीनगर का निवासी है। यहां चौधरी चरण सिंह एयरपोर्ट पर पहुंचने के बाद उसकी कोरोना जांच हुई। जांच में संक्रमित पाए जाने पर स्वास्थ्य विभाग की टीम ने कोविड प्रोटोकॉल का पालन करते हुए उसे लोकबंधु अस्पताल में भर्ती कराया है।
लखनऊ के मुख्य चिकित्सा अधिकारी के कार्यालय से मिली जानकारी के अनुसार, मरीज का नमूना जीनोम सिक्वेंसिंग के लिए केजीएमयू भेजा गया है। इसकी रिपोर्ट आने तक मरीज अस्पताल में भर्ती रहेगा। इसके अलावा जिस विमान से वह लखनऊ आया था, उसमें सवार सभी 156 यात्रियों की भी कोरोना जांच की गई है। इनमें से संक्रमित के पास बैठे लगभग बीस यात्रियों की आरटीपीसीआर जांच कराई गई है।

इसके अलावा पिछले 24 घंटों में देश विदेश से सोमवार को लखनऊ आए लोगों की कोरोना जांच में दो महिलाएं संक्रमित पाई गईं। ये दोनों लखनऊ की निवासी हैं। आरटीपीसीआर में भी दोनों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। इनमें से एक गोवा और दूसरी कनाडा से लखनऊ लौटी थी। वहीं दूसरी महिला कनाडा से आई थी।
स्वास्थ्य विभाग ने विदेशों से लखनऊ पहुंचने वाले संक्रमित लोगों के लिए अलग से 20 बेड आरक्षित किए हैं। कोरोना मरीजों की संख्या में इजाफे को देखते हुए स्वास्थ्य विभाग ने रेलवे स्टेशन, बस स्टैंड और एयरपोर्ट पर सैंपलिंग की प्रक्रिया तेज कर दी है। इसके अलावा अंतरराष्ट्रीय उड़ानों से आने वाले यात्रियों की विषेष निगरानी की जा रही है।

लखनऊ के अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. मिलिंद वर्धन ने बताया कि विदेश से आए व्यक्तियों में कोरोना संक्रमण पाए जाने पर उन्हें लोकबंधु अस्पाताल में भर्ती कराने की व्यवस्था की गई है। इन मरीजों के लिए अतिरिक्त 20 बेड रखे गए हैं, ताकि इन्हें तत्काल चिकित्सा सुविधा मुहैया कराई जा सके। इसके अलावा औचक परीक्षण (रैंडम सैंपलिंग) में संक्रमित पाए जाने वालो के नमूने आरटीपीसीआर और जीनोम सीक्वेंसिंग के लिए भेजे जा रहे हैं।
डॉ. वर्धन ने कहा कि जीनोम सीक्वेंसिंग के लिए अब तक 30 नमूने भेजे जा चुके हैं। इनमें 22 लोगों की रिपोर्ट निगेटिव आई है, जबकि शेष 8 की रिपोर्ट का अभी इंतजार है। लखनऊ में अभी तक किसी भी कोरोना संक्रमित मरीज में ओमिक्रोन वेरिएंट की पुष्टि नही हुई है।



और भी पढ़ें :