Coronavirus : कोरोना के चलते घर से दूर बेटियों का हौसला बढ़ाने के लिए पहुंचे मामा शिवराज

Author विकास सिंह| Last Updated: सोमवार, 30 मार्च 2020 (14:24 IST)
हमें फॉलो करें
भोपाल। देश के साथ मध्यप्रदेश भी इस वक्त कोरोना के कहर से जूझ रहा है। कोरोना के साये में प्रदेश की बागडोर संभालने वाले मुख्यमंत्री अब खुद मैदान में उतर आए है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान लगातार संकट के इस समय लोगों के बीच पहुंचकर लॉकडाउन के समय आमजन को मिल रही सुविधाओं का जायजा ले रहे और उनकी

हौसला अफजाई भी कर रहे है।

सोमवार को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने शहर के कई इलाकों का दौरा कर लोगों की समस्याओं को जाना। मुख्यमंत्री ने इस दौरान कई का दौरा कर वहां पर मौजूद छात्राओं की समस्या को जाना और उसको तुरंत समाधान करने का निर्देश अधिकारियों को दिया। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान अपने दौरे के दौरान जेके रोड स्थित आईटीआई महिला छात्रावास के साथ कई हॉस्टल पहुंचे। इस दौरान उन्होंने हॉस्टल में छात्राओं के साथ संवाद करते हुए कहा कि संकट कुछ दिन का है। सरकार के निर्देशों का पालन करेंगे तो जल्दी इस संकट से बाहर आ जाएंगे।

बेटियों से बातचीत के दौरान मुख्यमंत्री ने उनसे हॉस्टल में मौजूद व्यवस्थाओं के बारे में जाना और कहा कि घर में फोन करके बता देना मम्मी पापा से, की चिंता न करें,यहां मामा है। उन्होंने बेटियों को प्रोत्साहित करते हुए कहा कि कुछ दिन की समस्याएं है और हम मिलकर लड़ेंगे और कोरोना को परास्त करेंगे।
इस दौरान मुख्यमंत्री भोपाल में कोविड को लेकर बनाए गए कंट्रोल रूप पहुंचे जहां उन्होंने कंट्रोल रूम में काम करने वालों को उत्साहवर्धन करते हुए कहा कि वह प्रदेश की जनता की तरफ से आभारी है कि संकट के समय में रात दिन काम कर रहे है। मुख्यमंत्री ने कंट्रोल रूम काम कर रही महिला कर्मचारियों से कंट्रोल रुम के कामकाज को समझा और उनको लोगों की ज्यादा से ज्यादा मदद करने के लिए प्रोत्साहित किया।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान लगातार लोगों से सोशल डिस्टेंसिंग और लॉकडाउन के दौरान प्रशासन की ओर से जारी दिशा निर्देशों का पालन करने की अपील कर रहे है। इससे पहले शनिवार को भी मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान भी लोगों के पहुंचकर पूरी जमीनी स्थिति को जाना था।



और भी पढ़ें :