अपने फिल्मी करियर पर Shreyas Talpade बोले- दोस्तों ने ही मेरी पीठ पर छुरा घोंपा

पुनः संशोधित सोमवार, 17 मई 2021 (17:28 IST)
श्रेयस तलपड़े फिल्म इंडस्ट्री का जाना-पहचाना चेहरा हैं। इकबाल, ओम शांति ओम, हाउसफुल 2, गोलमाल जैसी फिल्मों से पहचान बना चुके श्रेयस तलपड़े का करियर कुछ खास नहीं चला था। पिछले कुछ समय से वह बड़े पर्दे से नदारद हैं।

हाल ही में एक इंटरव्यू में श्रेयस तलपड़े ने बॉलीवुड में अपने रिलेशंस पर बात की। इस दौरान उन्होंने चौंकाने वाला खुलासा किया। श्रेयस ने कहा, मैंने दोस्ती के नाते कुछ फिल्में कीं, लेकिन फिर उन्हीं दोस्तों ने मेरी पीठ में छुरा घोंप दिया। कुछ ऐसे दोस्त हैं, जो मुझे शामिल किए बिना आगे बढ़ते गए हैं और फिल्में बनाते हैं। क्या उन्हें दोस्त कहा जा सकता है।
उन्होंने कहा, इंडस्ट्री में 90 प्रतिशत लोग सिर्फ परिचित होते हैं, 10 प्रतिशत ही वास्तविक होते हैं, जो आपके अच्छा करने पर वास्तव में खुशी महसूस करते हैं।

श्रेयस ने कहा, मेरी सोलो फिल्म 'इकबाल' की इतनी प्रशंसा हुई। मैं मानता हूं कि मेरी मुख्य भूमिका वाली कुछ फिल्में नहीं चलीं और इसके लिए मैं खुद ही दोषी हूं। मैंने खुद की मार्केटिंग नहीं की, इस पर विश्वास करके कि मेरा काम बोलेगा, लेकिन ऐसा होता नहीं है।

उन्होंने कहा, मुझे पता चला कि कुछ ऐसे अभिनेता हैं, जो मेरे साथ स्क्रीन शेयर करने को लेकर असुरक्षित हैं और नहीं चाहते हैं कि मैं किसी फिल्म में रहूं। एक वक्त पर तो अमिताभ बच्चन तक को परेशानियों का सामना करना पड़ा था तो हम चीज ही क्या हैं। वह नीचे जरूर गिरे, लेकिन उन्होंने फिर ऊंचाइंयों को छुआ। मैं आज जहां हूं, उससे खुश हूं, लेकिन मेरा काम खत्म नहीं हुआ है।
उन्होंने कहा, मुझे अच्छे किरदारों की तलाश है। हर एक्टर एक बुरे वक्त से गुजरता है, लेकिन यह हमें मजबूत करता है। मैं सेट या मंच पर अभिनय करते हुए मरना चाहता हूं।

श्रेयस ने मराठी धारावाहिकों और महाराष्ट्र में स्टेज शोज कर अपने करियर की शुरुआत की थी। दर्जनों फिल्मों में काम कर चुके श्रेयस को उनकी फिल्म 'इकबाल' के लिए जाना जाता है। इसके निर्माता सुभाष घई थे और फिल्म का निर्देशन किया था नागेश कुकुनूर ने। इसके लिए श्रेयस ने बेस्ट एक्टर का 'जी सिने क्रिटिक्स अवार्ड' भी जीता था।



और भी पढ़ें :