पंकज त्रिपाठी का खुलासा, स्ट्रगल के दिनों में पत्नी ने किया था इस तरह सपोर्ट

पुनः संशोधित शुक्रवार, 1 अक्टूबर 2021 (18:20 IST)
पंकज ने अपने शानदार अभिनय से फिल्म इंडस्ट्री में अपनी एक अलग पहचान बनाई है। पंकज त्रिपाठी ने बिहार के गोपालगंज जिले में स्थित एक गांव से निकलकर अपनी एक्टिंग से सबका दिल जीत लिया है। पंकज त्रिपाठी ने जगत में इस मुकाम को हासिल करने के लिए काफी मुश्किलों का सामना किया है। वह न सिर्फ एक कमरे के मकान में रहे बल्कि उन्‍होंने गुजारे के लिए कई छोटे मोटे काम भी किए।

पंकज त्रिपाठी क्वीज शो कौन बनेगा करोड़पति 13 के शानदार शुक्रवार एपिसोड़ में प्रतीक गांधक्ष संग नजर आने वाले हैं। इस दौरान पंकज त्रिपाठी ने अपने स्ट्रगल के दिनों को याद करते हुए शो के होस्ट अमिताभ बच्चन के साथ बात की। पंकज त्रिपाठी ने यह भी खुलासा किया कि दूसरे स्ट्रगलिंग एक्टर्स की तरह, वह अपनी पत्नी मृदुला त्रिपाठी की बदौलत अंधेरी स्टेशन पर नहीं सो पाए।

पंकज ने अमिताभ बच्चन संग बात करते हुए बताया कि मैं 2004 में मुंबई आया था और 2012 में गैंग्स ऑफ वासेपुर मिली थी। आठ साल से, कोई नहीं जानता था कि मैं क्या कर रहा था। जब लोग मुझसे पूछते हैं, 'आपके स्ट्रगल के दिन कैसे थे', तभी मुझे एहसास हुआ कि 'ओह, वह मेरे स्ट्रगल के दिन थे?'

उन्होंने कहा, उस समय मुझे नहीं पता था कि यह एक कठिन दौर था। मुझे कठिनाई का एहसास नहीं था क्योंकि मेरी पत्नी बच्चों को पढ़ाती थीं, हमारी जरूरतें भी बहुत सीमित थीं। हम एक छोटे से घर में रहते थे और वह कमाती थीं इसलिए मैं आसानी से रहता था। उसकी वजह से मैं कभी अंधेरी स्टेशन पे नहीं सोया।

बता दें कि पंकज त्रिपाठी ने साल 2003 में कन्नड़ फिल्म से एक्टिंग की दुनिया में कदम रखा था। इसके बाद साल 2004 में उन्होंने हिन्दी फिल्म 'रन' में काम किया. पंकज ने इसके बाद कई फिल्मों में काम किया। उन्हें फिल्म गैंग्स ऑफ़ वासेपुर से जबरदस्त पहचान मिली।



और भी पढ़ें :