अनुराग कश्यप ने साधा कंगना रनौत पर निशाना, तो एक्ट्रेस बोलीं- ‘मिनी महेश भट्ट’

Last Updated: मंगलवार, 21 जुलाई 2020 (18:02 IST)
हमें फॉलो करें


कंगना पर निशाना साधते हुए अनुराग ने ट्वीट किया, ‘कल कंगना का इंटरव्यू देखा। एक समय में मेरी बहुत अच्छी दोस्त हुआ करती थी। मेरी हर फिल्म पर आकर मेरा हौसला भी बढ़ाती थी। लेकिन इस नई कंगना को मैं नहीं जानता। और अभी उसका यह डरावना इंटरव्यू भी देखा जो मणिकर्णिका की रिलीज के बिलकुल बाद का है। सफलता और ताकत का नशा हर किसी को बराबर बहकाता है, चाहे वो इनसाइडर हो या आउटसाइडर। ‘मुझसे सीखिए’, ‘मेरे जैसा बनिए’, यह बात मैंने 2015 से पहले उसके मुंह से कभी नहीं सुनी। और तब से अब तक बात यहां आ पहुंची है, कि जो मेरे साथ नहीं है वो सब मतलबी और चापलूस हैं।’



अनुराग ने आगे लिखा, ‘अपने सभी निर्देशकों को जो गाली देती है। जो एडिट में बैठकर सभी सह कलाकारों के रोल काटती है। जिसके साथ उसके कोई भी पुराने निर्देशक जो सभी कंगना को सराहते थे, उसके साथ काम करने से दूर भागते हैं। यह ताकत जो कंगना को लगता है उसने कमाई है, दूसरों को दबाने की...। उसे कंगना को आइना ना दिखा के और उसे सिर पे चढ़ा के, आप उसी को खत्म कर रहे हैं। मुझे और कुछ नहीं कहना है। क्या बकवास कर रही है? और कुछ भी बेसिरपैर का बोल रही है। इन सब का अंत यहीं होगा। और चूंकि मैं उसे बहुत मानता हूं और यह कंगना मुझसे बर्दाश्त नहीं हो रही है। बाकी बोलें ना बोलें मैं बोलूंगा, कंगना बहुत हो गया। और अगर यह तुम्हारे घरवालों को भी नहीं दिखता और तुम्हारे दोस्तों को भी नहीं दिखता तो फिर एक ही सच है कि हर कोई तुम्हारा इस्तेमाल कर रहा है और तुम्हारा अपना आज कोई नहीं है। बाकी तुम्हारी मर्जी, मुझे जो गाली बकनी है बको।’






अनुराग के ट्वीट पर कंगना की टीम ने लिखा, ‘ये हैं मिनी महेश भट्ट, कंगना से कह रहे हैं कि वो अकेली है और नकली लोगों से घिरी हुई है जो उसका इस्तेमाल कर रहे हैं। एंटी-नेशनल्स, अर्बन नक्सल्स जो आतंकवादियों को बचाते हैं और अब मूवी माफिया को सुरक्षा दे रहे हैं।’



एक्ट्रेस की टीम ने एक और ट्वीट कर लिखा, ‘खून के प्यासे आतंकवादी प्रमोटर्स अर्बन नक्सल्स और एंटी-नेशनल्स आज पूरी तैयारी के साथ आए हैं, वे अपने आपको संस्थान-विरोधी कहते हैं लेकिन अब वे एक अकेली योद्धा के खिलाफ खड़े हैं उन लोगों को बचाने के लिए जिन्होंने सुशांत को मानसिक और भावनात्मक रूप से मार डाला, क्या उन्होंने एक शब्द भी कहा जब सुशांत को बुली किया जा रहा था या उसे मार दिया गया?’




और भी पढ़ें :