0

अमजद खान : धधकते शोलों से उपजा अमजद

सोमवार,जुलाई 26, 2021
0
1
दिलीप कुमार के भी अनेक राजनेताओं से अच्छे संबंध थे। आत्मसम्मान के मामले में दिलीप कुमार बहुत संवेदनशील थे, फिर भी दोस्ती और प्रेम की खातिर उन्होंने राजनीति के आँगन में कदम रखा और अपनी पसंद के उम्मीदवारों के लिए चुनाव प्रचार में भाग लेते रहे।
1
2
दिलीप कुमार ने अपनी पसंदीदा अभिनेत्रियों के साथ काम किया, जिनमें से कामिनी कौशल और मधुबाला से उनके अंतरंग रिश्ते बने। देव आनंद से प्रेम करने वाली सुरैया ऐसी समकालीन अभिनेत्री थीं, जिन्होंने दिलीप कुमार के साथ काम करने में कोई दिलचस्पी नहीं दिखाई, ...
2
3
अपनी पारिवारिक जिम्मेदारियों के कारण दिलीप कुमार ने वैवाहिक जीवन में प्रवेश करने का निर्णय अपेक्षाकृत विलंब से स्वीकार किया। 11 अक्टूबर 1966 को जब उन्होंने 25 वर्षीय अभिनेत्री सायरा बानो के साथ शादी की, तब उनकी उम्र 44 की हो गई थी, जबकि उनके दर्शक ...
3
4
दिलीप कुमार भावनात्मक रूप से सदा ‍अपने परिवार से जुड़े रहे। पेशावर में दादा-दादी, चाचा-चाची, बहन-भाई सभी एक संयुक्त पठान के मेंबर थे। सरवर खान फलों के थोक व्यवसायी थे। अय्यूब की बीमारी की वजह से उनका सारा परिवार 1926 में मुंबई आ गया, लेकिन ...
4
4
5
दिलीप कुमार ने अपने लंबे करियर में बहुत कम फिल्में की हैं। जितनी फिल्में उन्होंने की हैं उससे कई गुना उन्होंने ठुकराई थीं। जिसमें कई बड़े बजट की फिल्में थी तो कुछ ऐसी फिल्में थीं जो क्लासिक मानी जाती हैं।
5
6
मेला, शहीद, अंदाज, आन, देवदास, नया दौर, मधुमती, यहूदी, पैगाम, मुगल-ए-आजम, गंगा-जमना, लीडर तथा राम और श्याम जैसी फिल्मों के सलोने नायक दिलीप कुमार स्वतंत्र भारत के पहले दो दशकों में लाखों युवा दर्शकों के दिलों की धड़कन बन गए थे। अब तक भारतीय ...
6
7
दिलीप कुमार फिल्म जगत की एक अजीमुश्शान (महामान्य) हस्ती हैं। उन्हें अभिनय का पर्यायवाची माना जाता है। अपनी समस्त फिल्मों में उन्होंने दिल लगाकर काम किया और अनेक किरदारों में जीवंत प्रस्तु‍ति दी। आरंभिक अनेक फिल्मों में उन्होंने निराश प्रेमी की छवि ...
7
8
क्या आप जानते हैं कि रणवीर सिंह रिश्ते में सोनम कपूर के भाई हैं। कि वे सोलह वर्ष की उम्र तक मोटे थे? पेश है रणवीर के बारे में 30 रोचक बातें।
8
8
9
आरडी को पंचम नाम से फिल्म जगत में पुकारा जाता था। पंचम नाम के पीछे मजेदार किस्सा है। आरडी बचपन में जब भी गुनगुनाते थे, प शब्द का ही उपयोग करते थे। यह अभिनेता अशोक कुमार के ध्यान में आई। सा रे गा मा पा में ‘प’ का स्थान पाँचवाँ है। इसलिए उन्होंने ...
9
10
करियर के शुरुआत में शाहरुख ने अलग-अलग रोल निभाए। बाद में वे रोमांस के बादशाह बन गए और हर किरदार को उन्होंने शाहरुख बना दिया। बीच-बीच में वे प्रयोग करते रहे, लेकिन ज्यादातर में उन्हें नाकामयाबी हाथ लगी। पेश है शाहरुख के करियर की दस श्रेष्ठ फिल्में।
10
11
25 जून 1974 को जन्मी करिश्मा कपूर उस कपूर खानदान से है जिसे हिंदी फिल्मों का प्रथम परिवार कहा जाता है। करिश्मा का निकनेम 'लोलो' है। करिश्मा की नानी का नाम गिना लोलोब्रिगाडा था और यही से 'लोलो' नाम करिश्मा की मां बबीता ने लिया।
11
12
अमरीश पुरी अपनी ऊंची-पूरी कद-काठी और बुलंद आवाज के बल पर सबसे आगे निकल गए। उनकी गोल-गोल घूमती हुई आंखें सामने खड़े व्यक्ति के भीतर दहशत पैदा कर देती थी। उनका कसरती बदन फौलाद की तरह मजबूत दिखाई देता था। उनकी फिल्में आकर चली जाती थीं, मगर उनका किरदार ...
12
13
ऋषिकेश मुखर्जी की फिल्म 'मिली' में भी अमिताभ एंग्री यंग मैन के रूप में दिखाई देते हैं, लेकिन यहां पर उनका किरदार उपरोक्त फिल्मों से अलग नजर आता है। वे रियल लाइफ के किरदार में हैं, लेकिन समाज से गुस्सा है। इसका एक कारण है। लोग उनके माता-पिता को ...
13
14
बंगाली फिल्म एक्ट्रेस और राजनेता नुसरत जहां इन दिनों इसलिए चर्चा में है कि उन्होंने निखिल जैन से अपनी शादी को गैरकानूनी और अवैध बताते हुए उनसे अलग होने की बात कही है। नुसरत सदैव अपनी बोल्डनेस, लाइफस्टाइल और विवादों में घिरे रहने के कारण चर्चा का ...
14
15
सोनम कपूर के बारे में यह बात बहुत कम लोग जानते हैं कि वे रणवीर सिंह की बहन हैं। ऐसी 30 रोचक जानकारियां सोनम कपूर के बारे में।
15
16
डिम्पल कपाड़िया के पिता चुन्नीभाई कपाड़िया बेहद अमीर व्यक्ति थे। वे अपने घर 'समुद्र महल' में अक्सर फिल्म सितारों को पार्टियां देते थे। कहा जाता है कि ऐसी ही एक पार्टी में फिल्मकार राज कपूर ने 13 वर्षीय डिम्पल को देखा और डिम्पल उनके जेहन में बस गई।
16
17
अनिता राज का कहना है कि अपने करियर में उन्हें ज्यादातर उन नायकों के साथ काम करना पड़ा जो उम्र में उससे कहीं अधिक बड़े थे। हम उम्र नायकों के साथ उन्होंने कम फिल्में की। इसके बावजूद हर हीरो के साथ उनकी जोड़ी खूब जमी। फिल्म करिश्मा कुदरता का की शूटिंग के ...
17
18

नूतन: लंबी और सशक्त पारी

शुक्रवार,जून 4, 2021
नूतन की सबसे बड़ी खूबी यह रही कि उन्हें कैसा भी रोल दे दिया जाए, अपने अभिनय से उसे असाधारण बनाने की क्षमता उनमें थीं। हल्के-फुल्के, चुलबुले अथवा धीर-गंभीर भूमिकाओं में नूतन ने साबित किया है कि बिना ग्लैमर के भी नंबर वन नायिका बना जा सकता है। सीमा, ...
18
19
भारतीय सिनेमा के स्वर्णयुगीन फिल्मकार राजकपूर को गुजरे हुए कई साल हो गए, लेनिक वे कभी अप्रासंगिक नहीं होंगे, क्योंकि उनका व्यक्तित्व और कृतित्व सार्वकालिक महत्व का है। राज कपूर की विरासत का लेखा-जोखा बहुत विस्तृत है। उनकी सबसे बड़ी विशेषता उनके सोच ...
19