'रील लाइफ' हीरो जो 2020 में बने 'रियल लाइफ' हीरो

Last Updated: गुरुवार, 17 दिसंबर 2020 (14:06 IST)
कोरोनावायरस महामारी के कारण 2020 सबसे कठिन वर्षों में से एक रहा। इस दौरान कुछ 'रील लाइफ' के हीरो ने कदम उठाया और 'रियल लाइफ' हीरो बने। कोविड वॉरियर्स बनने के लिए इन सितारों ने न केवल अपनी आवाज और स्टारडम का इस्तेमाल किया, बल्कि अपने संसाधनों का भी इस्तेमाल किया।
सोनू सूद-
सोनू सूद ने प्रवासी मजदूरों को उनके घर तक सुरक्षित पहुंचाने के लिए परिवहन, आवास और एक हेल्पलाइन नंबर की व्यवस्था करके एक मिसाल पेश की। में सोनू सूद हजारों प्रवासी मजदूरों के लिए मसीहा बन गए। सोनू सूद ने चिकित्साकर्मियों के आवास के लिए अपने जुहू होटल के दरवाजे खोले और मुंबई में वंचितों को नियमित भोजन भी दिया। अभिनेता ने ट्विटर पर उनके और जनता के बीच संचार की लाइनें भी खोल दीं, ताकि वे उनके मुद्दों को जान सकें।
रितिक रोशन-
प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री राहत कोष में एक बड़ी राशि दान करने के अलावा, अपना समर्थन देने के लिए और पुलिस अधिकारियों और बीएमसी कार्यकर्ताओं सहित कोविड-19 फ्रंट लाइनर्स को सुरक्षा के लिए जरूरी सामान मुहैया कराने में मदद करते रहे। स्टार ने स्पीरिट्स लिफ्ट करने के लिए अपने सोशल मीडिया पर बैच ऑफ 2020 के लिए एक प्रेरक संदेश दिया।
इस सबके अलावा, रितिक रोशन सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म का उपयोग ट्रेन में यात्रा करने के खतरों के बारे में जागरूकता लाने के लिए भी कर रहे थे। रितिक रोशन पपराज़ी को वित्तीय सहायता देने वाले पहले व्यक्तियों में से थे और यहां तक कि CINTAA की ओर भी दान किया। हमेशा युवा सपनों को साकार करने के लिए, स्टार ने एक महत्वाकांक्षी पर वंचित बैले डांसर को प्रायोजित किया और यहां तक ​​कि 100 से अधिक डांसर्स के समर्थन में धन दान किया जिनके पास काम नहीं था।
अक्षय कुमार-
कोरोनावायरस के प्रसार को रोकने के लिए निवारक और एहतियाती लॉकडाउन नियमों के बारे में सक्रिय रूप से जागरूकता फैला रहे थे। फ्रंटलाइन श्रमिकों और दैनिक वेतनभोगियों का समर्थन करने के लिए, अभिनेता ने पीएम-केयर्स फंड, मुंबई पुलिस फाउंडेशन, बीएमसी और CINTAA सहित कई निधियों में योगदान दिया। अक्षय ने महामारी से प्रभावित लोगों के लिए धन जुटाने के लिए बॉलीवुड के सबसे बड़े धन संग्रह कार्यक्रम में भी भाग लिया।
सलमान खान-
ने फेडरेशन ऑफ वेस्टर्न इंडिया सिने एम्प्लॉइज (FWICE) के 25,000 दैनिक कर्मचारियों को वित्तीय सहायता दी, जो ऑल इंडिया स्पेशल आर्टिस्ट एसोसिएशन (एआईएसएए) के सदस्य थे और कई स्पॉटबॉय की भी मदद की। बीइंग ह्यूमन के माध्यम से उन्होंने ग्रामीणों को खाना सामग्री पहुंचाने के लिए फ़ूड ट्रक्स बीइंग हंग्री की शुरुआत की। बीइंग ह्यूमन के बारे में बात करते हुए, स्टार ने गांवों और छोटे शहरों के लिए भी बहुत काम किया, 2500 परिवारों को भोजन और अन्य आवश्यक चीजें प्रदान की और लोगों को अन्न दान में भाग लेने के लिए प्रोत्साहित किया।
प्रभास-
कोरोना काल में का योगदान भी काफी महत्वपूर्ण रहा है। उन्होंने आंध्र प्रदेश के सीएम रिलीफ फंड और तेलंगाना के सीएम रिलीफ फंड और कोरोना क्राइसिस चैरिटी (CCC) को अतिरिक्त 50 लाख रुपए की राशि दान दी, जो तेलुगु सिनेमा के दैनिक वेतन और फिल्म श्रमिकों की मदद के लिए स्थापित की गई थी।
पैन-इंडिया के सुपरस्टार ने भी प्रधान मंत्री राष्ट्रीय राहत कोष में 3 करोड़ का दान दिया। प्रभास ने इको-पार्क के लिए 2 करोड़ की विकास निधि के साथ तेलंगाना में 1650 एकड़ वन भूमि को भी अपनाया, जिसका नाम उनके दिवंगत पिता उप्पलपति सूर्य नारायण राजू के नाम पर रखा जाएगा।




और भी पढ़ें :