गणपति आला रे : 5 मंत्रों से श्री गणेश होंगे प्रसन्न

Ganesha Mantra
 
इस वर्ष शुक्रवार, 10 सितंबर 2021 से दस दिवसीय गणेशोत्सव पर्व शुरू हो रहा है। इस दिन अधिकतर घरों में मिट्टी से निर्मित जी की मूर्तियां स्थापित की जाएंगी। इस दिन श्री गणेश की स्थापना के बाद उनका विधि-विधान से पूजन, आरती, मंत्र, चालीसा, प्रसादी वितरण आदि करके दसों दिन गणेश जी की पूरे मन से आराधना की जाएगी। श्री गणेश जी विघ्नों को हरने वाले देवता हैं व सभी मनोकामनाएं शीघ्र ही पूर्ण करते हैं।


शास्त्रों में लिखा है- 'क्लौ चंडी विनायको' यानी कलियुग में चंडी और श्री गणेश के अलावा शीघ्र प्रसन्न होने वाले दूसरे देवता नहीं हैं। इस खास अवसर पर श्री गणेश के इन 5 खास मंत्रों का जाप करना अतिलाभदायी और जीवन में खुशियां लाने वाला साबित होगा।

आइए पढ़ें 5 खास मंत्र-

1. ॐ गं गणपतये नम:।
2. ॐ वक्रतुंडाय हुम्‌

3. ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं ग्लौं गं गणपतये वर वरद सर्वजनं मे वशमानय स्वाहा।'

4. ॐ नमो हेरम्ब मद मोहित मम् संकटान निवारय-निवारय स्वाहा।'

5. गणेश गायत्री मंत्र- एकदंताय विद्महे,
वक्रतुंडाय
धीमहि, तन्नो दंती प्रचोदयात्।।



और भी पढ़ें :