0

वैवस्वत सप्तमी पर करें सूर्यदेव का पूजन, होगी हर मनोकामना पूरी, पढ़ें मंत्र भी

मंगलवार,जुलाई 5, 2022
0
1
सावन (श्रावण, Shravan Maas) भगवान शिव जी की आराधना का महीना हैं। यह भोलेनाथ का प्रिय त्योहार है, इस पूरे माह भगवान शिव प्रसन्न रहते हैं और अपने भक्तों की सभी मनोकामनाएं पूरी करते हैं...। शिव प्रसन्न होकर सफलता, प्रसन्नता और संपन्नता का शुभ आशीष देते ...
1
2
Dream Interpretation नींद में सपने देखना एक सहज प्रवृत्ति है। किसी भी व्यक्ति को कई तरह के सपने आते हैं और वो सोच में पड़ जाता है कि इस सपने का अर्थ क्या निकलेगा। यह स्वप्न हमारे लिए अच्छा फल लेकर आएगा या इसका बुरा परिणाम देखने को मिलेगा। यहां जानिए ...
2
3
Budh surya ki yuti : 2 जुलाई 2022 को बुध ग्रह के मिथुन राशि में प्रवेश करने के साथ ही सूर्य से उसकी युति बनने से बुधादित्य योग बना है, जो 16 जुलाई तक रहेगा। बुध और सूर्य की युति को बुधादित्य योग कहा जाता है। आओ जानते हैं इसके 10 शुभ परिणाम।
3
4
Angarak Dosh: मंगल और राहु एक दूसरे के शत्रु ग्रह है। दोनों के एक ही राशि या भाव में आने से यह इनकी क्रूरता में और इजाफा हो जाता है। मंगल और राहु की युति मिलकर अंगारक योग का निर्माण करती है। इस वक्त राहु मेष राशि में विराजमान है और 27 जून से मंगल भी ...
4
4
5
Effect of Angarak Dosh: 27 जून 2022 से मंगल ग्रह मेष राशि में गोचर कर रहा है जहां पर पहले ही राहु से संयोग बनाकर वह विस्फोटक योग निर्मित कर रहा है जिसे अंगारक योग कहते हैं। इस योग के चलते देश, दुनिया और समाज पर इसका विपरित असर होता है। आओ जानते हैं ...
5
6
वर्ष 2022 में आषाढ़ मास में भगवान कार्तिकेय का प्रिय स्कन्द षष्ठी व्रत पड़ रहा है। इस बार यह व्रत 5 जुलाई 2022, मंगलवार के दिन मनाया जाएगा। यह व्रत करने से जीवन की हर परेशानी का निवारण हो जाता है।
6
7
Dreaming of your own death मौत या मृत्यु से हर इंसान डरता है और डरना स्वाभाविक भी है, लेकिन अगर आप मृत्यु का सपना देखते हैं तो आपको घबराने की कोई बात नहीं हैं। क्योंकि मृत्यु का सपना हमेशा बुरा ही हो ये कतई जरूरी नहीं है, कई बार ऐसे सपने शुभ संकेत ...
7
8
Lord shiva in Dreams सपने में भगवान शिव को देखने के कई शुभ-अशुभ संकेत माने गए हैं। आज यहां हम जानेंगे कि अगर आपको सपने में भोलेनाथ शिव दिखाई देते हैं तो उन सपनों का क्या अर्थ होता है। सपने में भगवान शिव का आना यानी जीवन में क्या आश्‍चर्यजनक घटने ...
8
8
9
Astrology Muhurat 2022। इस बार 4 जुलाई 2022 से नया सप्ताह प्रारंभ होकर 10 जुलाई तक जारी रहेगा। यहां वेबदुनिया के प्रिय पाठकों के प्रस्तुत हैं शुभ पंचांग मुहूर्तों की सौगात। पंचांग और चौघड़िए (Muhurat 2022) के आधार पर 7 दिनों के अंतर्गत आने वाले दिनों ...
9
10
इन दिनों आषाढ़ मास चल रहा है, और श्रावण मास की तरह इस महीने भी शिव जी पूजा का लाभ देते हैं। जानिए कैसे... आषाढ़ मास के सोमवार को मिश्री के शिवलिंग की पूजा से क्या होता है? जरूरी बातें
10
11
Shrimati: हिन्दुओं में विवाहित स्त्रियों के नाम के आगे श्रीमती लगाते हैं। अविवाहितों के आगे कुमारी या सुश्री लगाते हैं। आखिर क्या अर्थ होता है श्रीमती का, जानिए।
11
12
13 जुलाई को आ रही है गुरु पुर्णिमा। यदि आपकी कुंडली में गुरु दोष, चांडाल योग या किसी भी प्रकार से बृहस्पति ग्रह कमजोर होकर कई तरह की समस्याएं खडी कर रहा है तो आपको इस दिन करना चाहिए 7 खास उपाय तो होगा फायदा। निम्नलिखित उपाय करने से भाग्य जागृत होगा, ...
12
13
Sapne mein divangat dikhai dena : सपने कई कारणों से दिखाई देते हैं। जब हम कोई स्वप्न देखते हैं तो जरूरी नहीं कि प्रत्येक सपने का अच्छा या बुरा फल होता है। हालांकि स्वप्न शास्त्र और ज्योतिष के अनुसार कुछ सपने हमें भविष्य का संकेत देते हैं या सतर्क ...
13
14
आषाढ़ मास के शुक्ल पक्ष की एकादशी को देवशयनी एकादशी कहा जाता है। पुराणों के अनुसार, इस दिन से चार महीने के लिए भगवान विष्णु योग निद्रा में रहते हैं। इस चार महीनों में मांगलिक कार्यों की मनाही होती है। कार्तिक मास में शुक्ल पक्ष की एकादशी को भगवान ...
14
15
see the full list of july month festivals and vrat जुलाई का महीना धर्म-कर्म, तीर्थयात्रा और धार्मिक दृष्टि से बेहद खास माना जाता है, क्‍योंकि इसी महीने में शिवभक्तों का प्रिय मास श्रावण और गुरु पूर्णिमा तथा चातुर्मास का आरंभ हो रहा है। श्रावण में ...
15
16
Devshayani ekadashi 2022: आषाढ़ माह के शुक्ल पक्ष की एकादशी को देवशयनी एकादशी इसलिए कहते हैं क्योंकि इस दिन से चार माह के लिए श्रीहरि विष्णु योगनिद्रा में सो जाते हैं। इसीलिए इसे हरिशयनी और पद्मनाभ एकादशी भी कहते हैं। इस एकादशी के व्रत को विधवत रूप ...
16
17
पौराणिक मान्यतानुसार आषाढ़ माह में वर्षा के कारण जल में जीव-जंतुओं की उत्पत्ति अधिक बढ़ जाती है, अत: इस माह स्वच्छ जल ही पीना चाहिए तथा इसकी स्वच्छता का विशेष ध्यान रखना चाहिए,
17
18
आषाढ़ और माघ मास की नवरात्रि को गुप्त नवरात्रि कहते हैं। इस बार आषाढ़ गुप्त नवरात्रि (ashadh gupt navratri) 30 जून से शुरू होकर 8 जुलाई तक मनाई जाएगी। धार्मिक मान्यतानुसार आषाढ़ माह के विशेष दिनों में व्रत करने का बहुत ही महत्व होता है
18
19
बुध ग्रह 02 जुलाई, शुक्रवार को सुबह 09 बजकर 40 मिनट पर वृषभ से निकलकर मिथुन राशि में प्रवेश करेंगे। इसके बाद बुध का कर्क राशि में गोचर 17 जुलाई, 2022 की सुबह 12:15 बजे होगा। दूसरी ओर 15 जून 2022, बुधवार से सूर्य ग्रह मिथुन राशि में गोचर कर रहे हैं। ...
19