0

जुलाई 2022 महीने के महत्वपूर्ण व्रत और त्योहार

शनिवार,जून 25, 2022
0
1
Vastu benefits of rain water: बारिश के पानी के कई सारे फायदे होते हैं। वास्तु के अनुसार भी बारिश के पानी लाभ है। जी हां, बारिश के पानी की मदद से आप जीवन में बढ़ रहे कर्ज को कम कर सकते हैं। तो आइए जानते हैं कैसे करें-
1
2
Aashadh gupt navratri 2022: वर्ष में चार नवरात्रि आती है:- माघ, चैत्र, आषाढ और अश्विन। चैत्र माह की नवरात्रि को बड़ी या बसंत नवरात्रि और अश्विन माह की नवरात्रि को छोटी या शारदीय नवरात्रि कहते हैं। दोनों के बीच 6 माह की दूरी है। बाकी बची दो आषाढ़ और ...
2
3
Vakri Guru 2022 July : 29 जुलाई, 2022 दिन शुक्रवार को बृहस्पति ग्रह मीन राशि में वक्री होंगे और इसके बाद 24 नवंबर, 2022 दिन गुरुवार को वे पुन: मार्गी हो जाएंगे। गुरु की इस उल्टी चाल से 4 राशियों के चमक जाएंगे भाग्य और 8 राशियों के लिए कैसा रहेगा यह ...
3
4
Yogini Ekadashi festival Information हर साल आषाढ़ कृष्ण एकादशी तिथि को 'योगिनी एकादशी' व्रत किया जाता है। इस साल यह व्रत आज 24 जून को रखा जा रहा है। इस दिन भगवान श्री विष्णु की पूजा कुछ नियमों का पालन करते हुए की जाती है। यह एकदशी पापों को नष्ट करने ...
4
4
5
Yogini Ekadashi Vrat 2022 हिन्दू धर्म में योगिनी एकादशी व्रत सभी प्रकार के पापों का नाश कर मुक्ति दिलाने वाला माना गया है। इस एकादशी के प्रभाव से सभी तरह के पाप नष्ट हो जाते हैं। वर्ष 2022 में योगिनी एकादशी शुक्रवार, 24 जून को मनाई जा रही है। आषाढ़ ...
5
6
बताया जा रहा है कि संत अच्युतानंद दास ने अपनी योग शक्ति के बल पर भविष्य मालिका को लिखा था। कहते हैं कि मालिका नाम से 21 लाख किताबें हैं। ये ग्रंथ ओडिशा में जगन्नाथ पुरी के मठों, मंदिरों और महंतों के पास अलग-अलग रखे हुए हैं, लेकिन अच्युतानंद दास ने ...
6
7
Sawan 2022 हिन्दू धर्म में सावन मास का विशेष महत्व है। सावन मास (Shravan Month) भगवान शिव की आराधना के लिए सबसे उत्तम महीना माना जाता है। यह महीना देवों के देव महादेव को अतिप्रिय है। मान्यतानुसार सावन मास में भगवान शिव की पूजा व सोमवार व्रत रखने से ...
7
8
Sapne Mein Gaay Bachhiya Dekhna हिन्दू धर्म गाय का बहुत महत्व है। पुरातन काल से गौ माता की पूजा की जाती रही है। मान्यतानुसार अगर आप गाय की निरंतर सेवा करते हैं तो आपको निश्चित ही पुण्य मिलेगा। Dream Interpretation
8
8
9
वर्ष 2022 में चातुर्मास, चौमासा (Chaturmas 2022) का शुभारंभ 10 जुलाई से हो रहा है तथा 4 नवंबर 2022 को इसकी समाप्ति होगी। चातुर्मास का समय भगवान के पूजन-आराधना और साधना का समय माना जाता है, chaturmas 2022 start date
9
10
ज्योतिष शास्‍त्र में हरा रंग और किन्नर (Kinnar) दोनों ही बुध ग्रह से संबंधित माने गए हैं। बुध ग्रह का ज्योतिष में एक खास स्‍थान हैं और इसे शुभ बनाने की सलाह दी जाती है। अत: बुधवार के दिन किन्नरों को हरे रंग (green cloth) के कपड़ों का दान शुभ फलदायी ...
10
11
वर्ष 2022 में आषाढ़ मास की गुप्त नवरात्रि (aashadh gupt navratri 2022) का प्रारंभ 30 जून, गुरुवार से हो रहा है। अगर आप भी इस नवरात्रि में माता दुर्गा (Mother Goddess) की गुप्त रूप से साधना करके मनवांछित फल प्राप्त करना चाहते हैं
11
12
Astrology Remedy: दै‍निक जीवन में कई तरह की बाधाएं और कष्ट आते हैं। यह 5 उपाय हर तरह की बाधा और मुसीबतों को टालते हैं। आजमा कर देखें...
12
13
हिन्दू धर्म में शनि (lord shani) एक देवता और नवग्रहों में एक प्रमुख ग्रह माने गए हैं। वे सूर्यदेव और छाया (संवर्णा) के पुत्र हैं। शनिदेव को न्याय का देवता माना जाता है।
13
14
रवि प्रदोष व्रत की कथा, पूजा विधि मंत्र और 7 सरल तरीके शिव को प्रसन्न करने के
14
15
15 जून से आषाढ़ माह प्रारंभ हुआ है, जो गुरु पूर्णिमा 13 जुलाई तक रहेगा। आषाढ़ माह में 5 ग्रहों का होगा परिवर्तन। इस माह में 5 बुधवार का संयोग भी बन रहा है। जानिए इस माह की 10 खास बातें।
15
16
इस वर्ष गुरु पूर्णिमा (guru purnima 2022) 13 जुलाई 2022, दिन बुधवार को मनाई जा रही है। यह दिन गुरुओं के पूजन तथा सम्मान का दिन माना जाता है। गुरुर्ब्रह्मा, गुरुर्विष्णु गुरुर्देवो महेश्वर:। गुरुर्साक्षात् परब्रह्म तस्मै श्री गुरुवे नम:।।- अर्थात ...
16
17
Gupt Navratri 2022 इस वर्ष 30 जून 2022 से गुप्त नवरात्रि का प्रारंभ हो रहा है। इसे आषाढ़ गुप्त नवरात्रि भी कहते हैं। हिंदू पंचांग के अनुसार वर्षभर में कुल 4 नवरात्रि आती हैं, जो पौष, चैत्र, आषाढ और आश्विन माह में पड़ती है। Ashadha Gupt Navratri
17
18
Mahamrityunjaya Mantra महामृत्युंजय मंत्र शिव जी का विशेष मंत्र है। पौराणिक शास्त्रों में महामृत्युंजय मंत्र को 'महामंत्र' कहा गया है। इस मंत्र के जप से व्यक्ति निरोगी रहता है। इस मंत्र को लंबी आयु और अच्छी सेहत का मंत्र भी कहते हैं। Lord Shiv
18
19
हिन्दू धर्म में अमावस्या तिथि का अत्यधिक महत्वपूर्ण स्थान है। इस दिन पितृ निवारण के लिए निम्न उपाय करने से जीवन के समस्त कष्‍ट दूर होते हैं।
19