वैशाख पूर्णिमा पर रहें सावधान और करें ये 10 उपाय

Purnima Importence in Astro
Last Updated: मंगलवार, 25 मई 2021 (20:09 IST)
हमें फॉलो करें
इस बार वैशाख पूर्णिमा के दिन चंद्रग्रहण भी रहेगा। 26 मई 2021 को वैशाख मास की पूर्णिमा को चंद्रग्रहण है। इसी दिन बुद्ध पूर्णिमा, गोरख जयंती, भृगु जयंती और कूर्म अवतार प्रकटोत्सव भी है। इस बार वैशाख पूर्णिमा पर चतुर्ग्रही योग बन रहा है। यानी वृषभ राशि में चार ग्रह चार ग्रह बुध, सूर्य, शुक्र और राहु एक साथ रहेंगे। पूर्णिमा के दिन सर्वार्थ सिद्धि व अमृत सिद्धि योग है, जो इस दिन को और शुभफलदायी बना रहा है। हालांकि चंद्रग्रहण होने से सावधानी रखना भी जरूरी है। आओ जानते हैं इस दिन कौन से 10 करके आप बचे रह सकते हैं।


उपाय :
1. अमावस्या या पूर्णिमा के दिन नित्य कर्मों से निवृत्त होकर पवित्र हो जाएं फिर एक मिट्टी का दीपक हनुमानजी के मंदिर में जलाएं और हनुमान चालीसा का पाठ करें।

2. इस दिन तुलसी के पत्ते या बिल्वपत्र नहीं तोड़ना चाहिए और तुलसी के साथ भगवान विष्णु की आराधना करना चाहिए। श्री विष्णु सहस्रनाम स्तोत्र, श्री विष्णु की आरती लाभप्रद है।

3. पूर्णिमा की रात में चांद की रोशनी स्वास्थ्य के लिए बहुत लाभदायक होती है। पूर्णिमा की रात में कुछ देर चांदनी में बैठने से मन को शांति मिलती है।
4. कुछ देर चांद को देखने से आंखों को ठंडक मिलती है और साथ ही रोशनी भी बढ़ती है।

5. इस दिन ध्यान करने से बहुत ही ज्यादा लाभ मिलता है।

6. इस दिन किसी भी प्रकार की तामसिक वस्तुओं का सेवन नहीं करना चाहिए।

7. इस दिन शराब आदि नशे से भी दूर रहना चाहिए। इसके शरीर पर ही नहीं, आपके भविष्य पर भी दुष्परिणाम हो सकते हैं।
8. इस दिन नदी, कुंड या सरोवर में स्नान करने करने से लाभ मिलता है। इस दिन स्नान का कई गुणा फल मिलता है। अगर आप किसी नदी में स्नान करने नहीं जा सकें तो घर में पानी में गंगाजल मिला लें।

9. इन दिन दान देने से पुण्यफल की प्राप्ति होती है।

10. पूर्णिका का विधिवत रूप से व्रत रखने से रोग और शोक मिट जाते हैं और दिमाग शांत हो जाता है। इस दिन व्रत रखें और भगवान विष्णु की पूजा करें।



और भी पढ़ें :