शुरू हुए मांगलिक कार्य, जानिए शुभ मुहूर्त...


 
 
* मांगलिक कार्यों की शुरुआत, शुभ विवाह के मुहूर्त  
खरमास का महीना 2017 को समाप्त हो गया। हिन्दू पंचांग और गणना के अनुसार सूर्य एक राशि में एक महीने तक रहता है। जब सूर्य 12 राशियों का भ्रमण करते हुए बृहस्पति की राशियों धनु और मीन में  प्रवेश करता है, तो अगले एक माह की अवधि को खरमास कहा जाता हैं। मान्यता है कि खरमास के दौरान मुंडन संस्कार, यज्ञोपवीत, कर्ण छेदन, गृह आरंभ, गृह प्रवेश, वास्तु पूजा, राजसी कार्य के साथ ही शुभ मांगलिक विवाह आदि शुभ कार्य पूरी तरह वर्जित रहते हैं।  
अब खरमास की समाप्ति के बाद पुन: शुभ मांगलिक कार्यों की शुरुआत हो जाएगी। शुभ ‍विवाह एवं मांगलिक कार्यों की शुरुआत 16 अप्रैल से होगी, जो 3 जुलाई तक रहेगी। इन चार महीनों के दौरान कुल 45 दिन शुभ विवाह के मुहूर्त रहेंगे। इन सबमें 29 अप्रैल को अक्षय तृतीया पर विशेष अबूझ मुहूर्त रहेगा, ‍ जिसमें कईं जोड़ें विवाह बंधन में बंधेंगे। इसके साथ ही 2 जुलाई को भड़ली नवमी रहेगी, तब भी चारों त‍रफ गाजे-बाजें की धुन सुनाई देंगी। इसके बाद नवंबर-दिसंबर 2017 में केवल 15 दिन ही शुभ विवाह के मुहूर्त रहेंगे।   
जानिए वर्ष 2017 के शुभ विवाह मुहूर्त
 
माह दिनांक
अप्रैल   16, 17, 18, 19, 23, 28, 29 एवं 30 अप्रैल। 
मई 4, 6, 7, 8, 9,10, 11, 12, 13, 15, 16, 21, 22, 26, 27, 31 मई। 
जून 1, 2, 3, 4, 5, 6, 7, 8, 9, 10,11, 12, 17, 18, 19, 22, 27, 30 जून। 
जुलाई 1, 2, 3 तक ही विवाह मुहूर्त रहेंगे। 
नवंबर 19, 20, 22, 22, 23 एवं 27, 28, 29 30 नवंबर। 
दिसंबर 
 
3, 4, 5, 9 एवं 10 तारीख को विवाह मुहूर्त रहेंगे।
 




और भी पढ़ें :