2014 : कैसा होगा स्त्री शक्ति के लिए

FILE


स्त्री के कारक ग्रह चंद्र व शुक्र हैं। नववर्ष में शुक्र की स्थिति वक्री होकर शनि की राशि मकर में द्वितीय भाव में है व स्त्री का कारक चंद्र भी धनु का है। यह संयोग बताते हैं कि हर बार की तरह इस बार भी पास नहीं हो पाएगा।

महिलाओं के प्रति सम्मानजनक स्थिति का रहना भी संशयपूर्ण है। शनि की चंद्र पर दृष्टि व अमावस्या योग का बनना महिलाओं के लिए ठीक नहीं है। द्वितीय भाव वाणी का है अतः महिलाओं के प्रति बोलचाल की भाषा भी आपत्तिजनक रहेगी।
2014 : देश की महिलाओं के लिए क्या लेकर आया है नया सा



और भी पढ़ें :