वर्ष 2014 : 12 रा‍‍‍शियां, संपूर्ण भविष्यफल

कैसा होगा 2014 आपके लिए, बता रहे हैं पं. देवेन्द्र

FILE
मेष- के सितारे बता रहे हैं कि मेष राशि वालों के लिए यह वर्ष मिला-जुला फल प्रदान करेगा, हालांकि गत वर्ष की अपेक्षा यह वर्ष प्रयास करने पर बेहतर साबित होगा। मेष राशि वाले काफी मेहनती, अनुशासनप्रिय, कर्मठ, किसी भी काम को शुरू करते हैं तो पूरा करके ही रुकते हैं। कई बार हठी और जिद्दी तथा गर्म-मिजाज के होते हैं।


इस राशि वालों के लिए वर्ष प्रारंभ होने से लेकर 12 जुलाई 14 तक राहु के दांपत्य भाव सप्तम स्थान से गोचर करने से दांपत्य जीवन में तनाव, जीवनसाथी के स्वास्थ्य की चिंता, साझेदारी के व्यवसाय में बाधा के योग बनेंगे।

जबकि 12 जुलाई से वर्षपर्यंत रोग और शत्रु के षष्ठ भाव से भाव से राहू का गोचर रहेगा जिससे राहू के शुभ फलों में वृद्धि, शत्रुपक्ष से लाभ, स्वास्थ्य में लाभ, नौकरी में पदोन्नति के योग बनेंगे बावजूद इसके भय, भ्रम, अफवाहों से बचें।
वहीं वर्ष प्रारंभ से 19 जून तक गुरु आपके तीसरे पराक्रम भाव में रहेगा इसलिए आपको पारिवारिक तनाव, कार्यों में ज्यादा मेहनत, चोरी, प्रियजनों पर अतिविश्वास से हानि की योग होंगे लेकिन 19 जून के बाद इसके बाद उच्च के होकर सुख के चतुर्थ भाव में रहने से भूमि प्रॉपर्टी में लाभ, वांछित स्थान परिवर्तन, कई दिनों से रुके कार्य में पूर्णता के योग हैं लेकिन मानसिक तनाव बना रहेगा, रुका पैसा मिलने की संभावना, नौकरी व्यवसाय में विशेष प्रयास के साथ उन्नति के योग बन सकते हैं।
शनि महाराज आपकी राशि से सप्तम होने से मिला-जुला फल देंगे। साझेदारी व्यवसाय में लाभ, सामाजिक सम्मान के योग बन सकते हैं लेकिन लापरवाही से अवमानना, अपयश भी मिल सकता है। व्यावसायिक लंबी यात्राएं होंगी, मनमाफिक कार्य होंगे, प्रभाव में वृद्धि के योग हैं। खास बात 2 नवंबर 14 से आपकी राशि पर शनि की लघुकल्याणी ढैया प्रारंभ होने से अशुभ फलों, संघर्ष की स्थिति निर्मित होंगी।
इस वर्ष प्रेम-प्रसंग के मामलों में जून के बाद तनाव रहेगा। मेष राशि के लिए वैवाहिक योग जून तक बने हैं उसके बाद वैवाहिक विलंब के योग बनते हैं जबकि विद्यार्थियों के लिए सफलता के खासे योग हैं, लेकिन जून माह के बाद शिक्षा में विशेष मेहनत करना होंगी जिससे बड़ी परीक्षा में सफल हो पाएंगे।

उपाय- इस वर्ष मेष राशि वालों को गुरु और शनि की शांति करानी चाहिए।



और भी पढ़ें :