दंगा आरोपी के समर्थन में प्रस्तावित पंचायत पर रोक

भाषा| पुनः संशोधित शनिवार, 28 सितम्बर 2013 (12:57 IST)
हमें फॉलो करें
FILE
लखनऊ। मुजफ्फरनगर दंगों के मामले में गिरफ्तार किए गए भाजपा पर लगाए गए राष्ट्रीय सुरक्षा कानून (रासुका) को हटाने की मांग को लेकर मेरठ में रविवार को प्रस्तावित सर्वजातीय पर शुक्रवार देर रात रोक लगा दी गई।


गृह विभाग के प्रवक्ता ने यहां बताया कि मुजफ्फरनगर में गत 7 सितंबर को हुई महापंचायत के बाद भड़की सांप्रदायिक हिंसा के कड़े अनुभव को देखते हुए मेरठ जिला प्रशासन ने सोम पर लगाए गए रासुका को हटवाने की मांग के समर्थन में 29 सितंबर को सरधना के खेड़ा गांव स्थित जनता इंटर कॉलेज में होने वाली सर्वजातीय पंचायत पर पाबंदी लगा दी है।
गौरतलब है कि गत 7 सितंबर को मुजफ्फरनगर के लगला गांव में जाट महापंचायत के बाद सांप्रदायिक हिंसा भड़क गई थी जिसमें 62 लोग मारे गए थे।


सरधना से भाजपा विधायक संगीत सोम को मुजफ्फरनगर दंगों से ऐन पहले भड़काऊ भाषण देने तथा इंटरनेट के जरिए एक फर्जी भड़काऊ वीडियो को शेयर करने के आरोप में पिछले दिनों गिरफ्तार करके उन पर रासुका लगाया गया था। (भाषा)



और भी पढ़ें :