वेलेंटाइन-डे पर शादियों की भरमार

लखनऊ (भाषा) | भाषा| पुनः संशोधित शुक्रवार, 6 फ़रवरी 2009 (18:55 IST)
हिन्दू पंचांग के अनुसार शादी के के संयोग से इस वर्ष वेलेंटाइन-डे अर्थात 14 फरवरी का दिन इतना खास हो उठा है कि इस दिन प्रदेश की राजधानी में लगभग तीन हजार जोड़े परिणय सूत्र में बँधने वाले हैं।


वेलेंटाइन-डे पर शादी करने वालों की भारी संख्या के चलते राजधानी के सभी शादीघर बुक हो चुके हैं। शादी कराने वाले पंडितों के पास एक ही रात तीन-तीन शादियों के कार्यक्रम हैं तो बैंडबाजे वालों के पास एक ही रात के कई बयाने।

पुरोहित पंडित उमाशंकर मिश्र बताते हैं कि 14 फरवरी को शादी का मुहुर्त विशिष्ट है और उस दिन बहुत से जोड़े विवाह के बंधन में बँधने को उतावले हैं। शुभ मुहूर्त में विवाह करने का असर पूरे विवाहित जीवन पर पड़ता है।

उन्होंने बताया कि अव्वल तो वे एक रात में एक ही शादी करवाते हैं पर इस बार 14 फरवरी को उन्हें एक ही रात में तीन-तीन विवाह संपन्न करवाने पड़ेंगे। राजधानी के राजाजीपुरम, विकासनगर, निरालानगर सहित तमाम इलाकों के विवाहगृह, बरातघर, अतिथिगृह और शादी के लॉन महीनेभर पहले से ही बुक हैं।


पंडितों, विवाहगृहों और बैंडवालों के अनुसार 14 फरवरी को वेलेंटाइन-डे पर शहर में तीन हजार से अधिक शादियाँ होने वाली हैं। राजधानी के प्रसिद्ध आजाद बैंड के मालिक रामकुमार बताते हैं कि उस दिन उनकी आठों पार्टियाँ तीन-तीन शिफ्ट में बुक हैं।
यही कहानी आम बैंड वालों की भी है और शादीघरों की तो इस हद तक कमी है कि पार्क, मैदान में लगाने के लिए टेंट, शामियानों की कमी पड़ने वाली है।



और भी पढ़ें :