सुनील त्रिपाठी अवसाद से पीड़ित थे

FILE
अमेरिका। सुनील त्रिपाठी के परिजनों का कहना है कि एकाएक गायब होने से पहले सुनील में के कुछ चिन्ह दिखाई दिए थे।


सुनील के भाई रवि ने कहा, उनका कभी कोई अस्पताल में इलाज नहीं चला था लेकिन उसके करीबी परिजन और दोस्तों को निश्चित रूप से पता था कि उनको मानसिक स्थिति को लेकर कुछ समस्याएं थीं लेकिन इस तरह की छोटी-मोटी समस्याएं तो हम सभी में हैं।

सुनील की बहन संगीता ने 'एबीसी न्यूज डॉट कॉम' से कहा था कि उनके भाई का बिना किसी से सम्पर्क किए हुए एकाएक गायब हो जाना पूरी तरह से असामान्य बात थी। उनका कहना था कि बोस्टन मैराथन में बमबारी के सिलसिले में सोशल मीडिया साइट्‍स पर उसका नाम आना निश्चित तौर हमारी मानसिक पीड़ा को बढ़ाने वाली बात थी।

परिवार को 34 दिनों की चिंता और तकलीफ के बाद यह तथ्य सामने आना कि उसका इस बात से कोई संबंध नहीं था, हमारे लिए और अधिक पीड़ा का विषय था। पच्चीस अप्रैल को प्रोविडेंस नदी से एक शव निकाला गया जो सुनील का था। उनके शव की शिनाख्त हो गई लेकिन उसकी मौत का कारण नहीं बताया जा सका।


पिछले माह न्यूयॉर्क डेली न्यूज में छपी एक खबर के मुताबिक जब पिछले वर्ष सुनील ने ब्राउन यूनिवर्सिटी से अवकाश लिया था तब भी वे अवसाद से जूझ रहे थे। हालांकि उनकी बहन डेली न्यूज से कहा था कि उनके भाई का अवसाद का कभी इलाज नहीं किया गया था।



और भी पढ़ें :