रामदेव 'यादव' इसलिए कार्रवाई नहीं...

लखनऊ| भाषा| पुनः संशोधित बुधवार, 30 अप्रैल 2014 (11:18 IST)
हमें फॉलो करें
FILE
लखनऊ। बसपा सुप्रीमो मायावती ने बुधवार को यहां योग गुरु बाबा के बयान पर को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि रामदेव पर अजा/ अजजा कानून के तहत मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई किए जाने की मांग की गई थी, पर प्रदेश सरकार ने बाबा रामदेव के 'यादव' होने के कारण न तो कोई कार्रवाई की और न ही उनका विरोध कर रही है।


मायावती ने बुधवार को सुबह मतदान करने के बाद कहा कि हमने प्रदेश सरकार से बाबा रामदेव के विरुद्व मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई किए जाने की मांग की थी, लेकिन अभी तक कोई सख्त कार्रवाई नहीं की गई।

उन्होंने कहा कि चुनाव आयोग ने बाबा रामदेव पर केवल पांबदी लगाई है जबकि उनके द्वारा दिए गए गंभीर और आपत्तिजनक बयान पर सख्त कार्रवाई होनी चाहिए थी।

मायावती ने कहा कि बाबा रामदेव ने कांग्रेस के शहजादे के विरुद्ध आपत्तिजनक टिप्पणी की, मगर दुर्भाग्य की बात है कि इस मुद्दे को कांग्रेस ने भी बहुत हल्के ढंग से लिया। मोदी ने भी इस पर कोई टिप्पणी नहीं की और समाजवादी पार्टी ने तो 'यादव' होने के कारण रामदेव पर चुप्पी ही साध ली।


पूर्व मुख्यमंत्री ने यह भी कहा क‍ि रामदेव ने दलितों का अपमान कर बहुत घिनौना काम किया है और भारतीय जनता पार्टी दलितों को गुमराह कर रही है।
बसपा अध्यक्ष ने देश और प्रदेश की जनता से लोकतंत्र को मजबूत करने के लिए वोट डालने की अपील करते हुए कहा कि देश के विकास और एकता के लिए केंद्र में मजबूत सरकार बननी चाहिए। (भाषा)



और भी पढ़ें :