45वीं पुण्यतिथि पर याद किए गए नेहरु

नई दिल्ली (भाषा) | भाषा| पुनः संशोधित बुधवार, 27 मई 2009 (12:52 IST)
राष्ट्रपति प्रतिभा पाटिल और प्रधानमंत्री मनमोहनसिंह सहित कई नेताओं ने आज देश के प्रथम प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरु को उनकी 45वीं पुण्यतिथि पर श्रद्धांजलि दी।


उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी और संप्रग अध्यक्ष सोनिया गाँधी ने शांति वन में नेहरु स्मारक पर श्रद्धासुमन अर्पित किए, जहां धार्मिक पुस्तकों से पवित्र शब्दों का उच्चारण भी किया गया।

रक्षा मंत्री एके एंटनी विदेश मंत्री एसएम कृष्णा और पूर्व गृहमंत्री शिवराज पाटिल दिवंगत नेता को पहले पहल श्रद्धांजलि अर्पित करने वालों में शामिल थे।

इनके अतिरिक्त केंद्रीय मंत्री वायलर, रवि मुरली देवड़ा, मीरा कुमार, वीरप्पा मोइली, गुलाम नबी आजाद और दिल्ली की मुख्यमंत्री शीला दीक्षित भी इस अवसर पर मौजूद थीं।


वरिष्ठ कांग्रेस नेताओं मोतीलाल वोरा, सत्यव्रत चतुर्वेदी, अश्विनी कुमार, पवन कुमार बंसल, सुबोध कांत सहाय, सीसराम ओला, जेपी अग्रवाल और जगदीश टाइटलर ने भी प्रथम प्रधानमंत्री को श्रद्धांजलि दी।
नेशनल कान्फ्रेंस के नेता फारूक अब्दुल्ला, योजना आयोग के पूर्व उपाध्यक्ष मोंटेकसिंह अहलूवालिया, तिरुवनंतपुरम के सांसद शशि थरूर और बूटासिंह ने भी नेहरु को श्रद्धांजलि दी।

स्मारक परिसर में एक सर्वधर्म प्रार्थना सभा का भी आयोजन किया गया। सभा के अंत में नेहरु का एक भाषण सुनाया गया। जवाहरलाल नेहरु का जन्म 14 नवम्बर 1889 और निधन 27 मई 1964 को हुआ था।



और भी पढ़ें :