कोल इंडिया खरीदेगा बापू का मकान!

कानपुर| भाषा| पुनः संशोधित रविवार, 2 जनवरी 2011 (10:58 IST)
करीब डेढ़ साल पहले दक्षिण अफ्रीका में महात्मा गाँधी का खरीदने में नाकाम रहा कोयला मंत्रालय एक बार फिर उनका मकान खरीद कर स्मारक बनाने के लिए प्रयासरत है और मंत्रालय को उम्मीद है कि इस बार उसे इसमें कामयाबी मिलेंगी।

जहाँ तक मकान खरीदने के लिए पैसे की बात है तो उसके लिए कोल इंडिया के कर्मचारी अपना एक-एक दिन का वेतन देने को तैयार हैं।

केन्द्रीय कोयला राज्य मंत्री श्रीप्रकाश जायसवाल ने बताया कि वह इस सिलसिले में चार जनवरी को दक्षिण अफ्रीका की यात्रा पर जा रहे हैं।
उन्होंने कहा कि अगस्त 2009 में भी कोल इंडिया ने जोहनसबर्ग स्थित महात्मा गाँधी का मकान खरीदने की कोशिश थी लेकिन तब नाकामी मिली थी। उस समय ऐसा मालूम हुआ था कि मकान को किसी और ने खरीद लिया है। लेकिन हाल ही में पता चला है कि मकान की मालकिन ने इसे बेचने की तो बात कर ली थी लेकिन अभी तक इस मकान की रजिस्ट्री नहीं हुई है।
जायसवाल ने बताया कि जब जोहानसबर्ग स्थित इस मकान को कोल इंडिया द्वारा स्मारक बनाए जाने की बात सामने आई तो उस मकान की मालकिन ने कोल इंडिया के अधिकारियों से इसे बेचने के बारे में बातचीत करने की इच्छा जाहिर की है।

उन्होंने कहा, अब मैं चार जनवरी को दक्षिण अफ्रीका और मोजम्बिक की यात्रा पर जा रहा हूँ तो उस मकान की मालकिन से इस मकान के बाबत भी बात करूँगा और उम्मीद है कि इस बार कोई चूक नहीं होने पाएगी। (भाषा)



और भी पढ़ें :