सज्जन कुमार सिख विरोधी दंगों से बरी

नई दिल्ली| WD|
हमें फॉलो करें
कड़कड़डूबा जिला अदालत परिसर में बड़ी संख्या में प्रदर्शनकारी एकत्र थे। कुमार को बरी किए जाने के बाद शिकायतकर्ता जगदीश कौर अदालत कक्ष के अंदर ही यह कहते हुए धरने पर बैठ गई कि न्याय होने तक वे नहीं उठेंगी।


बलवान खोकर, गिरधारी लाल एवं कैप्टन भागमल को भारतीय दंड संहिता की धारा 302 (हत्या) के तहत दोषी ठहराया गया, जिसमें अधिकतम सजा मृत्युदंड है। महेन्द्र यादव और किशन खोकर को केवल दंगे के अपराध में दोषी ठहराया गया है। (भाषा)



और भी पढ़ें :