सज्जन कुमार सिख विरोधी दंगों से बरी

नई दिल्ली| WD|
हमें फॉलो करें
फैसला सुनाते समय अदालत में प्रदर्शनकारियों ने काफी हंगामा किया और उनमें से एक ने न्यायाधीश की ओर उस समय जूता उछाला जब उन्होंने कुमार को बरी करने का फैसला सुनाया। कुमार को 31 अक्टूबर 1984 में तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की हत्या के बाद भड़के दगों के एक मामले में बरी किया गया है।


बाहरी दिल्ली से पूर्व लोकसभा सदस्य कुमार पर 1984 के दंगों का एक अन्य मामला भी चल रहा है। तीसरे अन्य मामले में दिल्ली पुलिस ने मामले को बंद करने संबंधी रिपोर्ट यह कहकर दाखिल की है कि कुमार के खिलाफ कोई साक्ष्य नहीं हैं। आगे पढ़ें... धरने पर बैठ गई एक दंगा पीड़ित...



और भी पढ़ें :