मिशनरी स्कूल में राष्ट्रगान का अपमान!

एबीवीपी के छात्रों ने की जमकर तोड़फोड़

भोपाल (भाषा)| भाषा| पुनः संशोधित सोमवार, 2 फ़रवरी 2009 (23:20 IST)
एक स्थानीय मिशनरी स्कूल में 26 जनवरी को के अपमान के विरोध में सोमवार को यहाँ (एबीवीपी) से जुड़े छात्रों ने स्कूल में जमकर हंगामा किया और तोड़फोड़ की।


पुलिस अधीक्षक जयदीप प्रसाद ने बताया कि एबीवीपी से जुड़े छात्रों ने आज दोपहर स्कूल में घुसकर हंगामा कर तोडफोड़ की। पुलिस ने उपद्रवियों को तितर-बितर करने के लिए हलका बल प्रयोग किया तथा लगभग 15 छात्रों को गिरफ्तार कर लिया।

उन्होंने बताया कि राष्ट्रगान के अपमान के सिलसिले में पिपलानी थाना पुलिस ने सेंट थॉमस कान्वेंट स्कूल के प्राचार्य फादर थॉमस मलनचेरूविल को आज गिरफ्तार कर लिया, जिन्हें बाद में अदालत से जमानत पर रिहा कर दिया गया। एबीवीपी के गिरफ्तार छात्रों को भी अदालत से जमानत मिल गई।

दूसरी ओर ईसाई महासंघ महासचिव राय थट्टा ने एबीवीपी कार्यकर्ताओं पर स्कूल के प्राचार्य कक्ष शिक्षक कक्ष में तोड़फोड़ तथा खिड़कियों एवं दरवाजों के शीशे तोड़ने का आरोप लगाया है।


उन्होंने स्कूल के शारीरिक शिक्षक अरबिंद प्रकाश गुप्ता के इन आरोपों का भी खंडन किया कि गणतंत्र दिवस पर स्कूल में राष्ट्रगान का अपमान किया गया था। उन्होंने कहा कि गुप्ता को स्कूल प्रबंधन ने गणतंत्र दिवस समारोह आयोजित करने का दायित्व सौंपा था, लेकिन वे उस दिन विलंब से पहुँचे तथा राष्ट्रगान एवं आभार प्रदर्शन के बाद प्राचार्य ने दायित्वों का ठीक तरह निर्वहन नहीं करने के आरोप में उन्हें तीन दिन के लिए स्कूल से निलंबित करने के आदेश दिए थे।
थट्टा ने आरोप लगाया कि अपनी गलतियाँ छिपाने के लिए गुप्ता ने राष्ट्रगान के अपमान की कहानी गढ़ी और स्कूल की छवि खराब करने का काम किया।

कैथोलिक चर्च के जनसंपर्क अधिकारी फादर आनंद मुटुंगल ने भी आरोप लगाया है कि पहले के कुछ उदाहरणों की तरह ही प्रशासन ने भगवा संस्थाओं के दबाव में काम किया और स्कूल प्राचार्य को गिरफ्तार कर लिया।
इससे पहले आज सुबह विश्व हिन्दू परिषद के सह-प्रचार प्रमुख देवेन्द्रसिंह रावत ने बातचीत में मिशनरी स्कूल पर गणतंत्र दिवस पर राष्ट्रगान का अपमान करने तथा एक कर्मचारी को निलंबित कर राष्ट्रीय पर्व का निरादर करने का आरोप लगाया।

उन्होंने कहा कि ध्वजारोहण के बाद जब प्राचार्य फादर मलनचेरूविल ने राष्ट्रगान की जगह स्कूल का नियमित प्रार्थना गीत जिसमें बाइबल वाक्य शामिल रहते हैं, को गाने का आदेश दिया तो स्कूल के शारीरिक शिक्षक अरबिंद प्रकाश गुप्ता ने इसका पालन करने के बजाय राष्ट्रगान शुरू कर दिया।
रावत के साथ पत्रकार वार्ता में उपस्थित स्कूल के शारीरिक शिक्षक गुप्ता ने आपबीती सुनाते हुए कहा कि राष्ट्रगान को बीच में ही रोककर प्राचार्य ने प्रार्थना गीत गाने पर फिर एक बार जोर दिया, लेकिन वह राष्ट्रगान पूरा करके ही रुके। इसके बाद प्राचार्य ने मंच से ही उन्हें निलंबित करने की घोषणा कर दी।



और भी पढ़ें :