सुनील गावस्कर की भारतीय टीम को नसीहत

नई दिल्ली| भाषा|
हमें फॉलो करें
FILE
नई दिल्ली। ऑस्ट्रेलिया टीम चार क्रिकेटरों के निलंबन के बाद भले ही मुश्किलों का सामना कर रही हो लेकिन पूर्व भारतीय कप्तान ने महेंद्र सिंह धोनी और उनकी टीम को मोहाली में गुरुवार से शुरू हो रहे तीसरे टेस्ट से पूर्व आत्ममुग्धता से बचने को कहा है।


गावस्कर ने कहा, मैं भारतीय टीम को सलाह दूंगा कि वे शिकंजा ढीला नहीं करे। आप ऑस्ट्रेलियाई टीम को कभी हल्के में नहीं ले सकते फिर वह भले ही मुश्किलों का सामना क्यों नहीं कर रही हो। इस पूर्व भारतीय कप्तान ने हालांकि शेन वाटसन और साथियों को मिली सजा पर टिप्पणी करने से इनकार कर दिया।

गावस्कर ने कहा, जो हुआ उसकी शत-प्रतिशत सूचना नहीं होने तक इस मुद्दे पर प्रतिक्रिया करना काफी मुश्किल होगा। पूर्व सलामी बल्लेबाज गावस्कर ने यह मानने से भी इनकार कर दिया कि वाटसन और जेम्स पैटिनसन जैसे खिलाड़ियों के इस टेस्ट के लिए उपलब्ध नहीं होने से भारत की राह काफी आसान हो जाएगी।

गावस्कर ने कहा, क्रिकेट ऐसा खेल है जहां किस्मत काफी आसानी से बदल जाती है। मैं सहमत हूं कि मोहाली में पैटिनसन काफी प्रभावी हो सकता था लेकिन यह मिशेल स्टार्क के लिए खुद को साबित करने का मौका हो सकता है। बेशक मध्यक्रम में वाटसन का नहीं होना बड़ा नुकसान है। गावस्कर ने साथ ही उम्मीद जताई कि कल पदार्पण की दहलीज पर खड़े शिखर धवन इस मौके का पूरा फायदा उठाएंगे।

उन्होंने कहा, यह उसके लिए बड़ा मौका है। यह ऐसी पिच है जहां गेंद बल्ले पर आती है। उन्‍होंने (धवन ने) घरेलू क्रिकेट में काफी रन बनाए हैं। अगर वे पहली गेंद को बल्ले के बीच से खेलते हैं तो वे अच्छी शुरुआत करेंगे। (भाषा)



और भी पढ़ें :