रवींद्र जड़ेजा लंबी रेस का घोड़ा है?

वेबदुनिया खेल डेस्क

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टेस्ट सीरीज़ में जब भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने रवींद्र जड़ेजा को अंतिम ग्यारह में बतौर जगह दी थी तो क्रिकेट विशेषज्ञों को यह फैसला कुछ अजीब लगा। लेकिन सीरीज़ में दो टेस्ट के बाद ही रवींद्र जड़ेजा ने अपनी उपयोगिता साबित करके अपने विरोध में उठ रहे सभी स्वर को बंद कर दिया। मौजूदा टेस्ट सीरीज़ में जड़ेजा ने भले ही बल्ले से कमाल नही दिखाया हो, लेकिन गेंद से वे ऑस्ट्रेलिया के नामी बल्लेबाज़ों को आउट करने में कामयाब रहे हैं। जड़ेजा ने अब दो टेस्ट में 19.00 की औसत से 11 विकेट लिए हैं और वे रविचंद्र अश्विन के बाद सीरीज़ में सबसे अधिक विकेट लेने वाले गेंदबाज़ हैं। वेबदुनिया डॉट कॉम ने जड़ेजा की ऑलराउंडर काबिलियत पर ऑनलाइन पोल पूछा था, जिसमें 53.19 प्रतिशत लोगों ने माना कि जड़ेजा ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टेस्ट सीरीज़ में अपनी ऑलराउंडर काबिलियत साबित कर चुके हैं, लेकिन 38.07 प्रतिशत लोगों ने कहा कि अभी उन्हें बहुत कुछ करना होगा, जिससे उनकी ऑलराउंडर काबिलियत सामने आ सके।
WD
भले ही जड़ेजा ने बल्लेबाज़ी में अपने हाथ नहीं दिखाए हों, लेकिन क्रिकेट प्रमियों को लगता है कि उनमें ऑलराउंडर खिलाड़ी बनने की क्षमता है। आप भी इस बारे में अपने विचार दीजिए।



और भी पढ़ें :