खिलाड़ियों पर से प्रतिबंध हटाने की माँग

लाहौर (वार्ता)| वार्ता|
पाकिस्तान के सियालकोट क्षेत्र क्रिकेट संघ के अध्यक्ष चौधरी नईम गुलजार ने पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) से बागी इंडियन क्रिकेट लीग (आईसीएल) में खेलने वाले खिलाड़ियों को घरेलू क्रिकेट में खेलने देने का आग्रह किया है।


नईम ने एक बयान में कहा कि इन खिलाड़ियों पर से प्रतिबंध उठा लिया जाना चाहिए। सीनियर खिलाड़ी देश की संपत्ति हैं और वे अपना अनुभव घरेलू क्रिकेट में नए उभरते हुए खिलाड़ियों में बाँट सकते हैं। इससे प्रतिभाशाली खिलाड़ियों की पौध सामने आएगी।

उन्होंने कहा कि आईसीएल क्रिकेट से संन्यास ले चुके खिलाड़ियों के लिए एक उम्मीद की किरण हैं और आईसीएल इन खिलाड़ियों को धन देकर एक तरह से क्रिकेट का ही भला कर रही है।

उन्होंने कहा कि एक खिलाड़ी के लिए अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में आठ से दस वर्ष का करियर होता है उसके बाद वह कुछ नहीं कर सकता। इसलिए इन खिलाड़ियों को सही तरीके से धन कमाने का अधिकार है।


नईम ने जोर देकर कहा कि आईसीएल और इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) दोनों ही भारतीय लीग है और पीसीबी को खिलाड़ियों को एक में खेलने और एक में नहीं खेलने के लिए दिशानिर्देश नहीं देने चाहिए।
उन्होंने कहा कि मुझे लगता है कि पीसीबी को बीसीसीआई के हितों की तरफ ध्यान देने की बजाए अपनी क्रिकेट तथा क्रिकेटरों पर ध्यान देना चाहिए।



और भी पढ़ें :