सरकार के अनुरूप हो रिजर्व बैंक की नीति

FILE
समाचार चैनल एनडी टीपी प्रोफिट को दिए साक्षात्कार में मुखर्जी ने कहा कि हम ऐसी ब्याज नीति देखना चाहेंगे, जो युक्तिसंगत हो और मौद्रिक नीति तथा राजकोषीय नीति के अनुरूप हो। यह विरोधाभासी नहीं होना चाहिए।

उल्लेखनीय है कि वित्तमंत्री ने यह बयान ऐसे समय दिया है, जब रिजर्व बैंक 27 अक्टूबर को त्रैमासिक मौद्रिक नीति समीक्षा की घोषणा करने वाला है।

यह पूछे जाने पर कि क्या वे ऋण महँगा करने की नीति के पक्ष में हैं, मुखर्जी ने कहा मैं रिजर्व बैंक के गवर्नर डी. सुब्बाराव के साथ चर्चा से पहले इस बारे में अभी कोई टिप्पणी नहीं करना चाहूँगा।

नई दिल्ली (भाषा)| भाषा|
हमें फॉलो करें
भारतीय रिजर्व बैंक की आगामी त्रैमासिक मौद्रिक नीति की समीक्षा से पहले वित्तमंत्री प्रणब मुखर्जी ने कहा है कि वे युक्तिसंगत ब्याज दर देखना चाहेंगे, जो अर्थव्यवस्था की मजबूती के लिए सरकार की राजकोषीय पहल के अनुरूप हो।
वृद्धि के मुद्दे पर पूछे गए सवाल के जवाब में वित्तमंत्री ने कहा अर्थव्यवस्था में सुधार हो रहे हैं, लेकिन अभी कोई नाटकीय सुधार की अपेक्षा नहीं की जा सकती। इसमें कुछ समय लगेगा। मुखर्जी ने कहा कि सरकार द्वारा उठाए गए आर्थिक प्रोत्साहन के कदमों का नतीजा नवंबर तक दिखने लगेगा।



और भी पढ़ें :