सालभर में नरम पड़ेंगी ब्याज दरें-चिदंबरम

बेंगलुरु (भाषा) | भाषा| पुनः संशोधित शुक्रवार, 1 अगस्त 2008 (19:53 IST)
हमें फॉलो करें
देश में मौजूदा समय में ऊँची ब्याज दरें अगले छह से 12 महीने में नरम पड़ना शुरू हो जाएँगी। यह भरोसा केंद्रीय वित्तमंत्री चिदंबरम ने जताया है।


उन्होंने कहा हम छह से 12 महीने के समय में नरम और सामान्य ब्याज दर वाली व्यवस्था में आ जाएँगे। यह साल हमारे लिए कठिनाई भरा रहा है। ब्याज दरें 2007 की शुरुआत से ही चढ़ रही हैं।

जब-जब रिजर्व बैंक महँगाई की बढ़ती दर पर लगाम लगाने के लिए मौद्रिक नीति को कड़ा करता है, ब्याज दरें बढ़ जाती हैं। वित्तमंत्री ने कहा बैंकों को ऊँची ब्याज दरों के बोझ को कम करने के तरीके खोजना चाहिए। उन्हें कम लागत वाली जमा राशि एकत्र करने जैसे तरीके अख्तियार करना चाहिए।

उन्होंने कहा व्यवस्था में पर्याप्त धन है। पर्याप्त नकदी है, लेकिन यह बैंकिंग प्रणाली के बाहर है। इसे अंदर होना चाहिए। चिदंबरम ने कहा बैंकों को अपनी क्षमता सुधारना चाहिए।



और भी पढ़ें :