अमेरिका का ऋण संकट टला

कर्ज सीमा बढ़ाने पर सहमति बनी

वॉशिंगटन| भाषा| पुनः संशोधित सोमवार, 1 अगस्त 2011 (14:17 IST)
हमें फॉलो करें
अमेरिका का ऋण संकट फिलहाल टल गया लगता है। अमेरिका के राष्ट्रपति बराक ओबामा ने कहा है कि प्रमुख सांसदों के बीच वित्तीय घाटा कम करने और कर्ज भुगतान में चूक होने से बचने के मामले में सहमति बनी हैकर्ज की किस्त के जरुरी भुगतान में एक बार चूक होने पर अमेरिकी अर्थव्यवस्था के लिए इसके घातक परिणाम होते।


समझौता होने के बाद ओबामा ने व्हाइट हाऊस प्रेस को देर रात बताया कि दोनों सदनों में दोनों पार्टियों के नेताओं के बीच समझौता हो गया है। यह समझौता घाटा कम करने और समय पर भुगतान में मदद करेगा। कर्ज का भुगतान समय पर नहीं होने से अमेरिकी अर्थव्यवस्था के लिए खतरनाक स्थिति होती।

उन्होंने बताया कि समझौते के पहले भाग के तौर पर अगले दस साल में खर्चों में एक हजार अरब डॉलर की कटौती होगी, इस प्रक्रिया को दोनों ही पक्ष जल्द शुरु करने के पक्ष में हैं।

उन्होंने कहा कि कटौती के परिणामस्वरुप सालाना घरेलू खर्च पिछले कई सालों में सबसे कम होगा, फिर भी यह ऐसा स्तर होगा जहां हम शिक्षा और अनुसंधान जैसे रोजगार सृजन वाले कार्यों में निवेश कर सकेंगे।


दोनों दलों के बीच हुए इस समझौते के बाद कर्ज सीमा बढ़ेगी और खर्चों में 2,000 अरब डॉलर से लेकर 3,000 अरब डॉलर के बीच कटौती होगी। (भाषा)



और भी पढ़ें :