प्रकृति का खूबसूरत नजारा - एम्बे वैली

ND
ND
अगर इन्सान के दिल में कुछ करने की चाह हो तो वह मिट्‍टी से सोना निर्मित कर सकता है। सुब्रत राय ने महाराष्ट्र की सह्याद्रि की पर्वत श्रृंखला में आधुनिक नगरी एम्बे वैली बसा कर इसे सच कर दिखाया है। उन्होंने जो सपना देखा था उसे दिन-ब-दिन तरक्की करते हुए देखते हुए उनकी आँखों में खुशी झलकती है। उनकी यह खुशी एम्बे वैली के निजी एयरपोर्ट के उद्‍घाटन के समय भी नजर आ रही थी।

1994 में सुब्रत राय ने जब खंडाला से थोड़ी दूरी पर स्थित आंबिवली गाँव में आजाद भारत का पहला योजनाबद्ध शहर बनाने की नींव रखी तब लोग उन पर हँसे थे। कुछ लोगों का कहना था कि इस योजना में वह पैसा बर्बाद कर रहे हैं। भारत में इस तरह का आधुनिक और महँगा शहर सफल नहीं होगा लेकिन उन्हें अपनी योजना पर विश्वास था।

एम्बे वैली का काम शुरू हुआ और आज एम्बे वैली एक बेहतरीन शहर के रूप में अपना स्थान बनाने में कामयाब हो गई है। 10 हजार एकड़ से ज्यादा फैले इस शहर में 9 फीसदी जमीन पर ही होटल, घर और अन्य सुविधाएँ खड़ी की गई हैं। 91 फीसदी जमीन पर पेड़, तालाब झील, फव्वारे और अन्य सुविधाएँ उपलब्ध करवाई गई हैं।

सिर्फ करोड़पतियों के लिए बनाए गए इस शहर में अपना मकान बनाने के लिए कई उद्योगपति आगे आए और आज इस शहर में लगभग 800 परिवार रह रहे हैं। पहे तो उद्योगपतियों और रईसों ने हॉलीडे होम के रूप में यहाँ अपना ‍आशियाना खरीदा लेकिन अब इसे ही अपना पहला घर बना लिया है और यहाँ से कामकाज के लिए मुंबई आवाजाही करते हैं। एम्बे वैली के पीछे ही कोयरीगढ़ किला है जो इस इलाके को खूबसूरती प्रदान करता है।

सुब्रत राय ने बताया, 'पहले सेकंड होम के लिए इस शहर को देखा जा रहा था लेकिन यहाँ मिल रही सुविधाएँ और खुले व साफ-सुथरे वातावरण, हर तरह की सुविधाओं के चलते कई लोगों ने इसे अपना पहला घर बना लिया है। यहाँ से मुंबई आना-जाना आसान है इसलिए यहाँ से आवाजाही करते हुए लोग अपना काम कर रहे हैं। मुंबई से एम्बे वैली सिटी आने के लिए पहले सड़क मार्ग से ही आना पड़ता था लेकिन हेलिकॉप्टर सेवा की वजह से पंद्रह ‍से बीस मिनट में यहाँ पहुँचा जा सकता है। अब तो एअर वन ने यहाँ हफ्ते में तीन दिन विमान सेवा भी शुरू की है।'

एम्बे वैली में प्रवेश आसान नहीं है क्योंकि यहाँ सिर्फ वही जा सकते हैं जिनके मकान हैं या फिर जिन्होंने इजाजत ले ली है। दो गेट पार कर अंदर जाते ही भारत माता की भव्य मूर्ति अभिभूत कर देती है। करोड़पतियों की पसंद को ध्यान में रखते हुए यहाँ पर छह तरह के घर बनाए गए हैं। जब इस शहर की नींव रखी थी तब टिंबर शैले की कीमत एक करोड़ रुपए थी। जो आज कई गुना बढ़ गई है।

इसी तरह विला की कीमत भी कई गुना बढ़ गई है। ऑसी टिंबर शैले योजना के तहत सौ डुप्लेक्स रो हाउस बनाए गए हैं। इस शैले में जुकझी भी लगाया गया है। 8 बर्मी शैले हैं जो बर्मी लकड़ी से बनाए गए हैं। इसकी खासियत यह है कि इसका बाथरूम ओपन है और सामने लेक का नजारा है। लेक के सामने गोता लगाने के लिए पुल और लकड़ी का डेक बनाया गया है। हर्मिटेज श्रेणी के तीन कमरे हैं जुकझी, बालकनी और ओपन बाथरूम हैं। 5 स्पैनिश कॉ‍टेज हैं जो आपको पंचसितारा होटल में रहने का मजा देते हैं।

यहाँ के घरों में बेडरूम, ड्राइंग रूम, किचन, बालकनी और खूबसूरत वादियों का मजा लेने के लिए टेरेस गार्डन बनाया गया है। यहाँ पर एक टाउन प्लाजा भी बनाया गया है जहाँ पर 70 घर बनाए गए हैं। यहाँ की खासियत हैं आधुनिक विलाएँ। इंग्लिश और स्पैनिश तरीके की इन आधुनिक विलाओं को ईंट, पत्थर, काँच और लकड़ी से बनाया गया है। अमिताभ, ऐश्वर्या, सचिन तेंडुलकर, सुब्रत राय, सीमांतो राय की विला यहाँ पर हैं।

यहाँ खाने-पीने के लिए हर तरह के पकवान उपलब्ध हैं। 24 घंटे कॉफी शॉप से लेकर विभिन्न रेस्तरां हैं जहाँ पर भारतीय, चाइनीज और इटालियन व्यंजन उपलब्ध हैं। इस मल्टी-कूजिन रेस्तरां में ब्रेकफास्ट से लेकर लंच, डिनर और स्नैक्स से लेकर बीयर की चुस्कियाँ लेना अपने आप में एक अलग अनुभव है। रेस्तरां के नीचे बेहतरीन स्वीमिंग पुल है।

इसकी बगल में ही वेव पुल बनाया गया है जहाँ पर प्रति घंटे प्रति व्यक्ति 400 रुपए देकर आप लहरों का मजा ले सकते हैं। सिर्फ शाकाहारी व्यंजन पसंद करने वालों के लिए मनुहार रेस्तराँ हैं जहाँ जैन खाना भी परोसा जाता है। भारतीय व्यंजन परोसने वाला अवध रेस्तरां भी यहाँ बनाया गया है जहाँ शाकाहारी और मांसाहारी भारतीय व्यंजन उपलब्ध हैं। गोल्फ एकेडमी के पास लीजंड नाम का रेस्तरां है। विश्व भर के व्यंजन के लिए फिशरमन्स वार्फ रेस्तरां भी यहाँ बनाया गया है। इटालियन तरीके के इस होटल में खुले आसमान के नीचे बैठकर खाना खाने का एक अलग ही मजा है।

सुब्रत राय ने जब एम्बे वैली की नींव रखी तब लोग उन पर हँसे थे लेकिन आज यह एक बेहतरीन आशियाने के रूप में अपना स्थान बना चुकी है।
मीटिंग के लिए कॉन्फ्रेंस हॉल भी इस शहर में बनाए गए हैं। मैराथन मीटिंग के बाद शरीर को हल्का करने के लिए यहाँ मनोरंजन के कई साधन उपलब्ध हैं जिसमें डिस्को थेक से लेकर केरला आयुर्वेदिक मसाज सेंटर तक सारी चीजें हैं। इसके अलावा महिलाओं के लिए भी ब्यूटी पार्लर भी बनाए गए हैं। जिसे घुड़सवारी करनी है उसे घुड़सवारी और जिसे साहसी खेल यानी एडवेंचर खेल पसंद हैं उनके लिए एडवेंचर पार्क भी बनाया गया है। ट्रेकिंग, रैपलिंग से लेकर एक्वा स्पोर्ट्‍स तक की सुविधाएँ उपलब्ध हैं।

एम्बे वैली का अपना हवाई अड्‍ड
नागरिक उड्‍डयन मंत्री प्रफुल्ल पटेल के हाथों एम्बे वैली के हवाई अड्‍डे का पिछले महीने उद्‍घाटन किया गया। एम्बे वैली से मुंबई और दिल्ली के लिए विमान सेवा शुरू करने की घोषणा भी सुब्रत राय ने उस समय की। नागरिक उड्‍डयन मंत्री प्रफुल्ल पटेल ने बताया, 'एम्बे वैली में कई लोगों ने अपना घर बनाया है और उनकी आवाजाही के लिए सहारा की ओर से निजी हवाई अड्‍डा बनाकर एक अच्छी सेवा शुरू की गई है।'

- चंद्रकां‍शिंद
एम्बे वैली शहर योजना के प्रमुख सीमांतो राय ने बताया, 'शुक्रवार से लेकर सोमवार तक हम विमान सेवा चलाएँगे जो सिर्फ एम्बे वैली में रहने वाले लोगों के लिए और यहाँ आने वाले मेहमानों के लिए है। शुरुआत में हम 8 और 12 सीटों वाले विमान चलाएँगे। इसके लिए 1200 मीटर लंबाई का रनवे बनाया गया है। आने वाले समय में हम रनवे की लंबाई 2400 मीटर तक बढ़ाने वाले हैं जिससे यहाँ पर बोइंग विमान भी उतारा जा सकेगा।



और भी पढ़ें :