सत्यम घोटाला: सीबीआई दल मॉरिशस से लौटा

नई दिल्ली, करोड़ों रुपए के घोटाले की जाँच कर रहा का दल मारिशस से कुछ बैंकों का ब्यौरा लेकर वापस लौटा है और अब जल्दी ही दूसरा दायर किया जा सकेगा।


आधिकारिक सूत्रों ने कहा कि सीबीआई का दल कथित तौर पर सत्यम के संस्थापक बी रामलिंग राजू द्वारा धन का निवेश में कर इसे करीब 300 नाम मात्र की कंपनियों में निवेश के रूप में फिर से भारत लाने के मामले की जाँच करने गया था।

उन्होंने कहा कि धन यूरोपीय देशों के जरिए कथित तौर पर राजू के संबंधियों के नाम बनी करीब 300 काल्पनिक कंपनियों में निवेश के रूप में वापस भारत लाया गया।

सूत्रों ने बताया कि सीबीआई सत्यम कंप्यूटर सर्विसेज द्वारा किए 10,000 करोड़ रुपए के घोटाले की जाँच कर रही है। एजेंसी ने अपनी जाँच में पाया है कि राजू ने बहुत सा धन मॉरिशस भेजा जहां से धन कई यूरोपीय देशों के जरिए भारत वापस लाया गया। मॉरिशस की गिनती काले धन की शरणस्थलियों में है।


सीबीआई के सूत्रों के मुताबिक इससे एजेंसी को दूसरा आरोप पत्र दायर करने में मदद मिलेगी जिसमें मॉरिशस से हुए कुछ और बैंक लेन-देन शामिल होगा।
अधिकारियों ने कहा कि सत्यम के संस्थापक ने एक बयान में खातों में 7,800 करोड़ रुपए की हेरा-फेरी की बात स्वीकार की थी लेकिन जाँच के दौरान जो तथ्य सामने आ रहे हैं उससे स्पष्ट है कि वह राशि बहुत कम है।



और भी पढ़ें :