कुछ नन्ही कविताएँ

WDWD
यहाँ- 1
यहाँ,
कुछ भी नहीं
सिर्फ
तेरी यादों
के सिवा ।



यहाँ -2
यहाँ सब कुछ है,
बस,
तेरे सिवा

यहाँ- 3
यहाँ सब कुछ है,
तेरी यादों के
आँसू भी
WDWD

यहाँ- 4
यहाँ,
सब कुछ है,
लेकिन इन सबकी
उपयोगिता क्या ?
डॉ. रवीन्द्र नारायण पहलवान
जब तू नहीं ।



और भी पढ़ें :