बॉलीवुड के कलाकार भी दु:खी

समय ताम्रकर|
में हुए आतंकवादियों ने बॉलीवुड के लोगों को भी हिलाकर रख दिया है। सभी ने इसकी कड़ी आलोचना की है। आइए जाने क्या कहते हैं ये कलाकार :


सेलिना जेटली : मैं उस रात ओबेरॉय होटल में ही डिनर लेने जाने वाली थी, लेकिन अचानक मेरा विचार बदल गया और मैं अपने पिता के दोस्तों के साथ वर्ली स्थित होटल चली गई। कुछ देर बाद मुझे फोन आने लगे कि कुछ होटलों पर आतंवादियों ने हमला किया। इसके बाद हमने होटल में ही पूरी रात गुजारी। मेरे घर वाले चिंतित हो गए थे। पूरा शहर दहशत के साए में हैं। आतंकवादियों से मैं इतना ही कहना चाहूँगी कि हम उनकी इन हरकतों से डरने वाले नहीं हैं।
मुग्धा गोडसे : मैं इस घटनाक्रम से स्तब्ध हूँ और मैं इस बात की उम्मीद कर रही हूँ कि हालात अब बेहतर होंगे। अब जरूरत है कि हम इनका मुकाबला करें। सभी को अपनी सुरक्षा खुद करनी होगी। हम भारतीय झुकना नहीं जानते।


मिनिषा लांबा : मुंबई पर हमला पूरे देश पर हमला है। मुझे समझ में नहीं आ रहा है कि सुरक्षा में कहाँ चूक हुई है। पुलिस के लिए भी पूरी मुंबई की रक्षा करना मुश्किल है। वे हमारे भाई-बहनों को बचाने की पूरी कोशिश करते हैं। मुंबई का मैं इसे सबसे खराब दिन मानती हूँ।

ईशा कोप्पिकर : जो कुछ हुआ बड़ा दु:खद हुआ। मैं उम्मीद करती हूँ कि स्थिति जल्दी ही‍ नियंत्रण में होगी।

अर्जुन रामपाल : मुंबई में ऐसी घटना का होना बेहद दु:खद है। हर मुंबईकर को सरकार से देश और शहर की सुरक्षा के बारे में पूछने का पूरा हक है। आतंकवादी कैसे आसानी से आए और नुकसान पहुँचा गए। इसका उत्तर राजनेताओं को देना होगा। कहाँ और कैसे चूक हुई है?
: मैं इस समय कुछ भी बोलने की स्थिति में नहीं हूँ। पुलिस, आर्मी और सरकार को इस बात का जवाब देना होगा कि इस तरह की घटना क्यों हुई?

गुलशन ग्रोवर : इस घटना ने मुझे हिलाकर रख दिया। मुझे विश्वास है कि इस घटना के बाद मुंबई में बदलाव देखने को मिलेगा।



और भी पढ़ें :