अकबर-बीरबल के रोचक और मजेदार किस्से : सब लोग एक जैसा सोचते हैं...

FILE


'हमेशा ऐसा नहीं होता, बादशाह सलामत!' बीरबल बोला, 'कुछ समस्याएं ऐसी होती हैं जिन पर सभी के विचार समान होते हैं।' इसके बाद कुछ और काम निपटा कर दरबार की कार्यवाही समाप्त हो गई। सभी अपने-अपने घरों को लौट चले।

उसी शाम जब अकबर बाग में टहल रहे थे, तो बादशाह ने फिर वही राग छेड़ दिया और बीरबल से बहस करने लगे।
WD| Last Updated: गुरुवार, 28 अगस्त 2014 (14:39 IST)

बादशाह को समझाने के लिए बीरबल ने क्या किया....




और भी पढ़ें :