अकबर-बीरबल के रोचक और मजेदार किस्से : भाई जैसा

FILE


हुसिफ को बादशाह अकबर ने दरबार में नौकरी दे दी। रहने के लिए बड़ा मकान, नौकर-चाकर, घोड़ागाड़ी भी दी। निजी खर्च के लिए एक मोटी रकम हर महीने उसको मिलती थी।

अब हुसिफ की जिन्दगी अमन-चैन से गुजर रही थी। उसे किसी चीज की कोई कमी नहीं थी।

'यदि तुम्हारी कुछ और जरूरतें हों, तो बेहिचक कह डालो। सब पूरी की जाएंगी।' बादशाह ने हुसिफ से कहा।
WD|

बादशाह के आग्रह पर हुसिफ ने क्या कहा....




और भी पढ़ें :